1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Budget 2020: वाणिज्‍य मंत्रालय ने सोने पर आयात शुल्‍क घटाने का दिया प्रस्‍ताव, निर्यात को मिलेगा बढ़ावा

Budget 2020: वाणिज्‍य मंत्रालय ने सोने पर आयात शुल्‍क घटाने का दिया प्रस्‍ताव, निर्यात को मिलेगा बढ़ावा

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-नवंबर के दौरान जेम्स एंड ज्वेलरी का निर्यात लगभग 1.5 प्रतिशत घटकर 20.5 अरब डॉलर रहा है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: January 13, 2020 16:54 IST
Commerce Ministry proposes cut in gold import duty in Budget- India TV Paisa

Commerce Ministry proposes cut in gold import duty in Budget

नई दिल्‍ली। वाणिज्‍य मंत्रालय ने आगामी बजट में सोने पर आयात शुल्‍क में कटौती करने का प्रस्‍ताव दिया है। सूत्रों ने बताया कि निर्यात बढ़ाने और जेम्‍स एंड ज्‍वेलरी सेक्‍टर में विनिर्माण को प्रोत्‍साहित करने के लिए मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। अपने बजट प्रस्‍ताव में वाणिज्‍य मंत्रालय ने वित्‍त मंत्रालय को सुझाव दिया है कि सोने पर लगने वाले आयात शुल्‍क में कटौती की जानी चाहिए। पिछले बजट में सरकार ने सोने पर आयात शुल्‍क को बढ़ाकर 12.5 प्रतिशत कर दिया था।  

जेम्‍स एंड ज्‍वेलरी एक्‍सपोर्ट इंडस्‍ट्री बजट में आयात शुल्‍क को घटाकर 4 प्रतिशत करने की मांग कर रही है। आगामी बजट 1 फरवरी, 2020 को पेश किया जाएगा। दिसंबर में सोने का आयात घटकर 39 टन रहा, जो इससे पहले नवंबर में 152 टन रहा था। अप्रैल-नवंबर अवधि के दौरान भारत का स्‍वर्ण आयात लगभग 7 प्रतिशत घ्‍ज्ञटकर 20.57 अरब डॉलर का रहा है। 2018-19 की समान अवधि में सोने का आयात 22.16 अरब डॉलर का था। सोने के आयात में कमी से अप्रैल-नवंबर के दोरान देश के व्‍यापार घाटे को कमकर 106.84 अरब डॉलर पर लाने में मदद मिली है। पिछले साल की समान अवधि में व्‍यापार घाटा 133.74 अरब डॉलर था।

इस साल जुलाई से ही सोने के आयात में नकारात्‍मक वृद्धि दर्ज की जा रही है। हालांकि, अक्‍टूबर में इसके आयात में 5 प्रतिशत और नवंबर में 6.6 प्रतिशत की वृद्धि रही। इनमें क्रमश: 1.84 अरब डॉलर और 2.94 अरब डॉलर का आयात किया गया। भारत सोने का आयात करने वाला सबसे बड़ा देश है। सालाना आधार पर भारत 800 से 900 टन सोने का आयात करता है।

सोने के आयात का व्‍यापार घाटा और कैड पर नकारात्‍मक प्रभाव को कम करने के लिए सरकार ने पिछले साल बजट में आयात शुल्‍क को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 12.5 प्रतिशत कर दिया था। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि उच्‍च आयात शुल्‍क की वजह से कंपनियों ने अपने विनिर्माण संयंत्रों को पड़ोसी देशों में स्‍थानांतरित करना शुरू कर दिया है।

चालू वित्‍त वर्ष में अप्रैल-नवंबर के दौरान जेम्‍स एंड ज्‍वेलरी का निर्यात लगभग 1.5 प्रतिशत घटकर 20.5 अरब डॉलर रहा है। देश का स्‍वर्ण आयात वित्त वर्ष 2018-19 में 3 प्रतिशत घटकर 32.8 अरब डॉलर रहा था।

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021