1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ई-कॉमर्स कारोबार के धीरे-धीरे लॉकडाउन से पहले के स्तर पर वापस आने के संकेत

ई-कॉमर्स कारोबार के धीरे-धीरे लॉकडाउन से पहले के स्तर पर वापस आने के संकेत

चार मई से कंपनियों को ग्रीन जोन में सभी सामान बेचने की अनुमति मिली

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 10, 2020 22:13 IST
E Commerce sector- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

E Commerce sector

नई दिल्ली। ई-कॉमर्स उद्योग से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि लॉकडाउन के चलते मई के पहले सप्ताह में ई-कॉमर्स मंचों पर गैर-जरूरी वस्तुओं की बिक्री पिछले साल की तुलना में कम रही है, लेकिन ऑर्डर तेजी से बढ़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस दौरान लोग अन्य वस्तुओं के साथ ही कपड़े, स्मार्टफोन और साजसज्जा के सामान खरीद रहे हैं। ई-कॉमर्स कंपनियों को 25 मार्च से 40 दिन तक देशव्यापी लॉकडाउन के बाद चार मई से ग्रीन और ऑरेंज जोन में सभी सामान बेचने की अनुमति दी थी। लॉकडाउन के पहले दो चरणों में फ्लिपकार्ट, अमेजन और स्नैपडील जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल मूलभूत वस्तुओं जैसे किराने का सामना, दवाओं और स्वास्थ्य संबंधी उत्पादों को बेचने की अनुमति दी गई थी। कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या के आधार पर विभिन्न जिलों को लाल, नारंगी और हरे रंग के क्षेत्रों में विभाजित किया गया है। हालांकि, दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे और हैदराबाद जैसे देश के प्रमुख ई-कॉमर्स केंद्र रेड जोन में शामिल हैं, वहां ई-कॉमर्स कंपनियां सिर्फ मूलभूत वस्तुओं की आपूर्ति कर सकती हैं।

उद्योग के एक अधिकारी ने बताया कि इस दौरान लोग चार्जर, एक्सटेंशन क्वॉर्ड्स, नोटबुक और पेन जैसी वस्तुओं को खरीदने के लिए ऑर्डर कर रहे हैं। साथ ही ट्रिमर, शतरंज और कैरम जैसे उत्पादों की भी मांग है। उन्होंने कहा कि चूंकि गैर-मूलभूत सामानों की आपूर्ति अभी पूरे देश में नहीं की जा रही है, इसलिए पिछले साल की तुलना में बिक्री कम है, हालांकि लॉकडाउन से पूर्व मार्च महीने के आंकड़ों के मुकाबले अच्छी-खासी बढ़ोतरी है। स्नैपडीन के प्रवक्ता ने कहा कि हमारे ऑर्डर की संख्या तेजी से बढ़ रही है और परिचालन के पांच दिनों के भीतर ऑर्डर की संख्या लॉकडाउन से पहले की संख्या के मुकाबले 50 फीसदी अधिक है। उन्होंने बताया कि ई-कॉमर्स मंचों पर आने वाले लोगों और खरीदारों का अनुपात भी लॉकडाउन के पहले के स्तर के मुकाबले दोगुना है। इस दौरान बर्तन, मिक्सर और ग्राइंडर तथा मच्छरदानी जैसे उत्पादों की खोज और बिक्री सबसे अधिक रही। प्रवक्ता ने कहा कि पानीपत, अंबाला, पंचकुला, अमृतसर, उदयपुर, वलसाड, जामनगर, गोवा, कोयम्बटूर, विशाखापत्तनम, पुडुचेरी, तिरुवनंतपुरम, कोझीकोड, तूतीकोरिन, कटक और गुवाहाटी में काफी अधिक मांग देखने को मिली है। अमेजन इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा कि उनके प्लेटफॉर्म पर विक्रेताओं को स्मार्ट डिवाइस, इलेक्ट्रॉनिक्स, रसोई के उपकरण, कपड़े, खिलौने और अन्य घरेलू वस्तुओं के आर्डर मिले हैं। पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीनिवास मोथे ने कहा कि कंपनी के ई-कॉमर्स मंच पर मोबाइल, मास्क, ट्रिमर, लैपटॉप के साथ-साथ अन्य उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों की बिक्री में वृद्धि हुई है।

 

Write a comment
X