1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Gland Pharma ने शेयर बाजार में की अपनी शानदार शुरुआत, 14 प्रतिशत प्रीमियम के साथ हुआ लिस्‍ट

Gland Pharma ने शेयर बाजार में की अपनी शानदार शुरुआत, 14 प्रतिशत प्रीमियम के साथ हुआ लिस्‍ट

ग्लैंड फार्मा की प्रमोटर फोसुन सिंगापुर और शंघाई फोसुन फार्मा हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 20, 2020 13:47 IST
Gland Pharma shares make strong mkt debut; lists with 14 pc premium- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Gland Pharma shares make strong mkt debut; lists with 14 pc premium

नई दिल्‍ली। ग्लैंड फार्मा के शेयर शुक्रवार को 14 प्रतिशत प्रीमियम के साथ सूचीबद्ध हुए। इसके साथ ही प्रमुख दवा कंपनी को बीएसई और एनएसई, दोनों में जोरदार शुरुआत मिली। बीएसई में ग्लैंड फार्मा के शेयर 1,701 रुपये के भाव पर सूचीबद्ध हुए, जो 1,500 रुपये के निर्गम मूल्य के मुकाबले 13 प्रतिशत अधिक है। दिन के कारोबार के दौरान भाव 1,850 रुपये प्रति शेयर के स्तर तक पहुंचा। ग्लैंड फार्मा के आईपीओ के लिए बोली का दायरा 1,490 से 1,500 रुपये प्रति शेयर के बीच था।

ग्‍लैंड फार्मा की प्रमोटर फोसुन सिंगापुर और शंघाई फोसुन फार्मा हैं। आईपीओ के तहत 1250 करोड़ रुपये मूल्‍य के नए शेयर और 3,48,63,635 शेयर ओएफएस के तहत पेश किए गए थे। सिंगापुर सरकार, नोमूरा, गोल्‍डमैन साक्‍स, मोर्गन स्‍टेनली, एसबीआई म्‍यूचुअल फंड, एक्सिस म्‍यूचुअल फंड, एसबीआई लाइफ इंश्‍योरेंस कंपनी और फ‍िडेलिटी इसके एंकर निवेशक हैं।  

कल्पतरु मुंबई में 200 से अधिक प्रीमियम फ्लैट बनाने के लिए 350 करोड़ रुपये निवेश करेगी

रियल्टी कंपनी कल्पतरु लिमिटेड मुंबई में एक प्रीमियम आवासीय परियोजना विकसित करने के लिए 350 करोड़ रुपये का निवेश करेगी, जिसमें 200 से अधिक फ्लैट होंगे। कंपनी का मानना है कि आवास ऋण के लिए कम ब्याज दरों और कीमतों में कमी के चलते मांग में बढ़ोतरी होगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि वर्तमान चरण में 350 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से लगभग पांच लाख वर्ग फुट क्षेत्र का विकास किया जाएगा।

इस परियोजना में दो बीएचके फ्लैट की कीमत 1.7 करोड़ रुपये से शुरू है, जबकि तीन बीएचके की कीमत 2.4 करोड़ रुपये से शुरू होती हैं। कल्पतरु लिमिटेड के प्रबंध निदेशक पराग मुनोत ने कहा कि रिलय एस्टेट में निवेश का यह सबसे अच्छा वक्त है और ब्याज दरों में कमी, नीतिगत समर्थन और कीमतों में नरमी से ग्राहकों का विश्वास बहाल हुआ है।

Write a comment