1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकार ने समर्थन मूल्य पर खरीदा 683 लाख टन धान, 1 करोड़ किसानों को हुआ फायदा

सरकार ने समर्थन मूल्य पर खरीदा 683 लाख टन धान, 1 करोड़ किसानों को हुआ फायदा

चालू खरीफ विपणन सीजन 2020-21 में देश के एक करोड़ से ज्यादा किसानों से सरकारी एजेंसियां अब तक 683 लाख टन से ज्यादा धान की खरीद कर चुकी हैं

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 20, 2021 14:57 IST
सरकार ने समर्थन...- India TV Paisa
Photo:AP

सरकार ने समर्थन मूल्य पर खरीदा 683 लाख टन धान, 1 करोड़ किसानों को हुआ फायदा

नई दिल्ली। चालू खरीफ विपणन सीजन 2020-21 में देश के एक करोड़ से ज्यादा किसानों से सरकारी एजेंसियां अब तक 683 लाख टन से ज्यादा धान की खरीद कर चुकी हैं और कई राज्यों में खरीद अभी जारी है। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि खरीफ 2020-21 के लिए धान की खरीद सुचारु रूप से चल रही है। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, उत्तराखंड, तमिलनाडु, चंडीगढ़, जम्मू और कश्मीर, केरल, गुजरात, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, झारखंड, असम, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा से धान की खरीद की जा रही है।

पढें-  Amazon के नए 'लोगो' में दिखाई दी हिटलर की झलक, हुई फजीहत तो किया बदलाव

पढें-  नया डेबिट कार्ड मिलते ही करें ये काम! नहीं तो हो जाएगा नुकसान

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 18 मार्च 2021 तक इन राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के किसानों से 683.21 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद की जा चुकी है, जबकि इसी समान अवधि में पिछले वर्ष केवल 601.46 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो पाई थी। इस वर्ष में अब तक की गई धान की खरीद में पिछले वर्ष के मुकाबले 13.59 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज देखी गई है।

पढ़ें-  भारत के सभी बैंकों के लिए आ गई ये सिंगल एप, ICICI बैंक ने किया कमाल

पढ़ें- ATM मशीन को बिना छुए निकाल सकते हैं पैसा, इस सरकारी बैंक ने शुरू की सुविधा

मंत्रालय ने बताया कि 683.21 लाख मीट्रिक टन धान की कुल खरीद में से अकेले पंजाब की हिस्सेदारी 202.82 लाख मीट्रिक टन है, जो कि कुल खरीद का 29.68 प्रतिशत है और देश के लगभग 100.49 लाख किसान वर्तमान खरीफ विपणन सत्र में पहले ही लाभान्वित हो चुके हैं।

खरीदे गए धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी के तौर पर किसानों को 1,28,990.50 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।

Write a comment
X