1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. PPF और FD पर ब्याज में कटौती का फैसला वापस, वित्त मंत्री सीतारमण ने दी जानकारी

PPF और FD पर ब्याज में कटौती का फैसला वापस, वित्त मंत्री सीतारमण ने दी जानकारी

PPF और FD सहित दूसरी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर को घटाने का फैसला सरकार ने कुछ ही घंटों में वापस ले लिया है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 01, 2021 8:42 IST
PPF और FD पर ब्याज में...- India TV Hindi News
Photo:FILE

PPF और FD पर ब्याज में कटौती का फैसला वापस, वित्त मंत्री सीतारमण ने दी जानकारी

PPF और FD सहित दूसरी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर को घटाने का फैसला सरकार ने कुछ ही घंटों में वापस ले लिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- भारत सरकार की लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरें उन्हीं दरों पर बनी रहेंगी जो 2020-21 की अंतिम तिमाही में मौजूद थीं यानी मार्च 2021 की ब्याज दरें बनी रहेंगी।

सीतारमण ने कहा, "भारत सरकार की छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर (Interest Rates on Small Savings Schemes) वही रहेगी जो वित्त वर्ष 2020-2021 की आखिरी तिमाही में थी। यानी मार्च 2021 की ब्याज दर ही आगे भी मिलेगी। जारी किए गए आदेश वापस लिए जाएंगे।"

इससे पहले सरकार ने बुधवार को लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) और एनएससी (राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र) समेत लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 1.1 प्रतिशत तक की कटौती की घोषणा की थी। यह कटौती एक अप्रैल से शुरू 2021-22 की पहली तिमाही के लिये की गयी थी। वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार, पीपीएफ पर ब्याज 0.7 प्रतिशत कम कर 6.4 प्रतिशत जबकि एनएससी पर 0.9 प्रतिशत कम कर 5.9 प्रतिशत कर दी गयी । लेकिन अब यह अधिसूचना वापस ले ली गई है। 

कहां कितनी हुई थी कटौती 

ब्याज में सर्वाधिक 1.1 प्रतिशत की कटौती एक साल की मियादी जमा राशि पर की गयी है। अब इस पर ब्याज 4.4 प्रतिशत होगा जो अबतक 5.5 प्रतिशत था। इसी प्रकार, दो साल के लिये मियादी जमा पर पर ब्याज 0.5 प्रतिशत घटाकर 5 प्रतिशत, तीन साल की अवधि के मियादी जमा पर ब्याज 0.4 प्रतिशत कम किया गया है जबकि पांच साल के लिये मियादी जमा पर ब्याज 0.9 प्रतिशत कम कर 5.8 प्रतिशत कर दिया गया है। बालिकाओं के लिये बचत योजना सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज 2021-22 की पहली तिमाही के लिये 0.7 प्रतिशत घटाकर 6.9 प्रतिशत कर दिया गया है। किसान विकास पत्र पर सालाना ब्याज दर 0.7 प्रतिशत कम कर 6.2 प्रतिशत कर दी गयी है। अबतक इस पर ब्याज 6.9 प्रतिशत थी। वित्त मंत्रालय ने 2016 में ब्याज दर तिमाही आधार पर तय किये जाने की घोषणा करते हुए कहा था कि लघु बचत योजनाओं पर ब्याज सरकारी बांड के प्रतिफल से जुड़ी होंगी।

Latest Business News

Write a comment
navratri-2022