1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. राजीव बजाज ने कहा Coronavirus पर हमनें पश्चिमी देशों का अनुसरण किया, वायरस रुका नहीं और अर्थव्‍यवस्‍था हो गई चौपट

राजीव बजाज ने कहा Coronavirus पर हमनें पश्चिमी देशों का अनुसरण किया, वायरस रुका नहीं और अर्थव्‍यवस्‍था हो गई चौपट

आर्थिक पैकेज पर बजाज ने कहा कि दुनिया के कई देशों में जो सरकारों ने दिया है उसमें से दो तिहाई लोगों के हाथ में गया है। लेकिन हमारे यहां सिर्फ 10 फीसदी ही लोगों के हाथ में गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 04, 2020 11:52 IST
Lockdown draconian, economy decimated,says Rajiv Bajaj to Rahul Gandhi- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

Lockdown draconian, economy decimated,says Rajiv Bajaj to Rahul Gandhi

नई दिल्‍ली। देश के जानेमाने उद्योगपति राजीव बजाज ने गुरुवार को कहा कि कोरोना संकट से निपटने के संदर्भ में भारत ने पश्चिमी देशों की ओर देखा और कठिन लॉकडाउन लगाने का प्रयास किया, जिससे न तो संक्रमण का प्रसार रुका, उल्टे अर्थव्यवस्था तबाह हो गई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के माध्यम से किए गए संवाद में बजाज ने यह भी कहा कि बहुत सारे अहम लोग बोलने से डरते हैं और ऐसे में हमें सहिष्णु और संवेदनशील रहने को लेकर भारत में कुछ चीजों में सुधार करने की जरूरत है।

लॉकडाउन से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यवश हमने पश्चिम खासकर सुदूर पश्चिम की तरफ देखा और पूर्व की तरफ नहीं देखा। उन्होंने कहा कि हमने कठिन लॉकडाउन लागू करने का प्रयास किया जिसमें खामियां थीं। इसलिए मुझे लगता है कि हमें आखिर में दोनों तरफ से नुकसान हुआ। इस तरह के लॉकडाउन के बाद वायरस मौजूद रहेगा। आप इस वायरस की समस्या से नहीं निपट पाए, लेकिन इसके साथ अर्थव्यवस्था तबाह हो गई।

बजाज ने कहा कि मुझे लगता है कि पहली समस्या लोगों के दिमाग से डर निकालने की है। इसे लेकर स्पष्ट विमर्श होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि लोग प्रधानमंत्री की सुनते हैं। ऐसे में अब प्रधानमंत्री को यह कहने की जरूरत है कि हम आगे बढ़ रहे हैं, सब नियंत्रण में है और संक्रमण से मत डरिए। सरकार की ओर से घोषित आर्थिक पैकेज पर बजाज ने कहा कि दुनिया के कई देशों में जो सरकारों ने दिया है उसमें से दो तिहाई लोगों के हाथ में गया है। लेकिन हमारे यहां सिर्फ 10 फीसदी ही लोगों के हाथ में गया है। 

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X