1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जल्द ही और घरेलू उड़ानों को मिलेगी अनुमति, अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फैसला दूसरे देशों के रुख पर: उड्डयन मंत्री

जल्द ही और घरेलू उड़ानों को मिलेगी अनुमति, अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फैसला दूसरे देशों के रुख पर: उड्डयन मंत्री

फिलहाल देश में रोजाना 700 से अधिक उड़ानों की संचालन

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 21, 2020 11:48 IST
- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

more domestic flights likely soon 

नई दिल्ली। घरेलू हवाई यातायात में तेजी लाने के लिए, केंद्र सरकार आने वाले सप्ताह में और अधिक गंतव्यों के लिए उड़ानों की अनुमति देगी। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि आने वाले सप्ताह में अधिक उडानों को जोड़ा जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा, "हम घरेलू विमानों की सेवा बढ़ाएंगे। मौजूदा समय में हमने केवल 33 प्रतिशत विमानों को इजाजत दी है। विमान पूरी क्षमता के साथ नहीं उड़ रहे हैं। जहां अधिक मांग है, उन मार्गों पर हम और विमान बढ़ाएंगे। अगर कहीं मांग अधिक है तो हम 40 से 45 प्रतिशत सर्विस शुरू करने को तैयार हैं।"

अब तक घरेलू यात्री यातायात के तहत एक दिन में औसतन 65 हजार से 72 हजार लोग यात्रा कर रहे हैं और प्रतिदिन 700 से अधिक उड़ानें संचालित हो रही हैं। घरेलू सेवाओं के 25 मई से फिर से शुरू होने के बाद से एयरलाइंस द्वारा 10 लाख से अधिक यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया है।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को दोबारा शुरू करने का फैसला दुनिया के बाकी देशों के उड़ानें चालू करने पर निर्भर करेगा। पुरी ने कहा, "अभी किसी भी देश ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ान शुरू नहीं की है। हम कब अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें शुरू करेंगे, यह दूसरे देशों पर निर्भर करेगा। जब वे अपने यहां अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को आने की अनुमति देंगे तो इन्हें शुरू कर दिया जाएगा। जब तक ऐसा नहीं होता है, तब तक हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। तब तक हम विदेशों में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए सीमित उड़ानें जारी रखेंगे।"

मंत्री ने बताया कि विदेशों से अब तक 2.75 लाख भारतीयों को लाया जा चुका है। इनमें से 109,000 लोगों को एयर इंडिया के जरिए देश लाया गया है। पुरी ने बताया कि घरेलू निजी विमानन कंपनियों को वंदे भारत मिशन के तीसरे और चौथे चरण में फंसे हुए लोगों को पहुंचाने के लिए 750 उड़ानों के संचालन की पेशकश की गई है।

Write a comment
X