1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 2015 से 2019 के बीच पीएम मोदी ने की 58 देशों की यात्रा, खर्च हुए कुल 517.82 करोड़ रुपए

2015 से 2019 के बीच पीएम मोदी ने की 58 देशों की यात्रा, खर्च हुए कुल 517.82 करोड़ रुपए

विदेश मंत्रालय की ओर से दिए गए ब्योरे के मुताबिक, वर्ष 2015 के मार्च महीने में मोदी ने पहली विदेश यात्रा सेशेल्स, मॉरीशस और श्रीलंका की थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 23, 2020 10:21 IST
PM Narendra Modi has visited 58 countries since 2015 at cost of Rs 517 crore- India TV Paisa
Photo:PTI

PM Narendra Modi has visited 58 countries since 2015 at cost of Rs 517 crore

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 2015 से नवंबर 2109 के बीच कुल 58 देशों की यात्रा की और इन यात्राओं पर कुल 517.82 करोड़ रुपए खर्च हुए। यह जानकारी मंगलवार को संसद में दी गई। राज्यसभा को एक सवाल के लिखित जवाब में विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री के इन दौरों से द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भारत के दृष्टिकोण के बारे में अन्य देशों की समझ बढ़ी तथा संबंधों में मजबूती आई है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (रांकापा) की फौजिया खान ने सरकार से जानना चाहा था कि वर्ष 2015 से आज की तारीख तक प्रधानमंत्री ने कितने देशों का दौरा किया और इन दौरों पर कुल कितना व्यय हुआ। इसके जवाब में मुरलीधरन ने बताया कि 2015 से प्रधानमंत्री ने 58 देशों की यात्रा की। इन यात्राओं पर कुल 517.82 करोड़ रुपए व्यय हुआ। विदेश राज्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं के दौरान उनके द्वारा किए गए पारस्परिक विचार-विमर्शों से द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भारत के दृष्टिकोण के बारे में अन्य देशों की समझ बढ़ी है और इन वार्ताओं से व्यापार और निवेश, प्रौद्योगिकी, सामुद्रिक सहयोग, अंतरिक्ष, रक्षा सहयोग और लोगों के बीच परस्पर संपर्कों सहित अनेक क्षेत्रों में उनके साथ संबंध मजबूत हुए हैं।

उन्होंने कहा कि संबंधों में आई इस मजबूती ने हमारे आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और हमारे नागरिकों की भलाई के लिए भारत के राष्ट्रीय विकास एजेंडे में योगदान दिया है। मुरलीधरन ने कहा कि भारत अब जलवायु परिवर्तन, अन्तरराष्ट्रीय अपराध और आतंकवाद, साइबर सुरक्षा और परमाणु अप्रसार सहित बहुपक्षीय स्तर पर वैश्विक एजेंडे को मूर्तरूप देने के लिए बढ़-चढ़कर योगदान दे रहा है और अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन और आपदा समर्थ अवसंरचना के लिए गठबंधन जैसे वैश्विक मुद्दों के लिए दुनिया को अपनी अनूठी पहलों की पेशकश कर रहा है।

विदेश मंत्रालय की ओर से दिए गए ब्योरे के मुताबिक, वर्ष 2015 के मार्च महीने में मोदी ने पहली विदेश यात्रा सेशेल्स, मॉरीशस और श्रीलंका की थी। मार्च के ही महीने में उन्होंने सिंगापुर की यात्रा की थी, जबकि उस साल अप्रैल में उन्होंने फ्रांस, जर्मनी और कनाडा की यात्रा की थी। प्रधानमंत्री ने 2019 में नवंबर माह में ब्राजील की अंतिम यात्रा की थी। वर्ष 2019 में 22 सितंबर को अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान मोदी ने ह्यूस्टन के एक स्टेडियम में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ 50,000 भारतीय-अमेरिकी नागरिकों को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने सबसे पहला विदेश दौरा भूटान का किया था। 2014 में ही उन्होंने ब्राजील, नेपाल, जापान, अमेरिका, म्यांमार, फिजी और ऑस्‍ट्रेलिया का दौरा किया था। 

Write a comment
X