1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. विदेशी निवेशकों के खाता जब्त होने की खबर से टूटे अडाणी ग्रुप के स्टॉक, समूह ने कहा गलत है खबर

विदेशी निवेशकों के खाता जब्त होने की खबर से टूटे अडाणी ग्रुप के स्टॉक, समूह ने कहा गलत है खबर

जब्त करने की खबर के बाद ग्रुप कंपनियों के शेयरों में सोमवार को तेज गिरावट देखी गई। कारोबार की शुरुआत में स्टॉक 25 प्रतिशत तक गिरे ।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 14, 2021 18:38 IST
'निवेशकों को किया जा...- India TV Paisa
Photo:ADANI GROUP

'निवेशकों को किया जा रहा गुमराह'

नई दिल्ली। अरबपति कारोबारी गौतम अडाणी के समूह ने सोमवार को कहा कि उसके पास इस बात की लिखित जानकारी है कि उसके शीर्ष शेयरधारकों में शामिल तीन विदेशी फंडों के खाते जब्त नहीं किए गए हैं और इस तरह की खबर ‘‘स्पष्ट रूप से गलत और भ्रामक’’ हैं। अडाणी समूह की कंपनियों में हिस्सेदारी रखने वाले कुछ एफपीआई खातों को राष्ट्रीय प्रतिभूति डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) द्वारा कथित रूप से जब्त करने की खबर के बाद इन कंपनियों के शेयरों में सोमवार को तेज गिरावट देखी गई। कारोबार की शुरुआत में ग्रुप कंपनियों के स्टॉक 25 प्रतिशत तक गिर गये थे।

समूह की प्रमुख कंपनी अडाणी एंटरप्राइजेज के साथ ही अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन, अडाणी ग्रीन एनर्जी, अडाणी टोटल गैस, अडाणी ट्रांसमिशन और अडाणी पावर ने शेयर बाजार को बताया कि समूह की कंपनियों में हिस्सेदारी रखने वाले इनवेस्टमेंट फंड अल्बुला इंवेस्टमेंट फंड, क्रेस्टा फंड और एपीएमएस इन्वेस्टमेंट फंड, के खातों को एनएसडीएल द्वारा जब्त करने की खबर ‘‘स्पष्ट रूप से भ्रामक है और जानबूझकर निवेशक समुदाय को गुमराह करने के लिए फैलाई गई है।’’ इन कंपनियों ने कहा, ‘‘इससे बड़े पैमाने पर निवेशकों को आर्थिक क्षति और समूह की प्रतिष्ठा को अपूरणीय नुकसान हो रहा है।’’ उन्होंने कहा कि मुद्दे की गंभीरता और छोटे निवेशकों पर इसके प्रतिकूल असर को देखते हुए ‘‘हमने उपरोक्त फंडों के डीमैट खाते (खातों) की स्थिति के संबंध में पंजीयक और स्थानांतरण एजेंट से अनुरोध किया था और 14 जून 2021 की दिनांक वाले ई-मेल के जरिए इस बात की लिखित पुष्टि की गई है कि उपरोक्त फंड जिन डीमैट खातों में कंपनी के शेयरों को रखते हैं उन डी मैट खातों को जब्त नहीं किया गया है।’’

इससे पहले खबर आई थी कि एनएसडीएल की वेबसाइट पर कथित रूप से बिना कोई कारण बताए अल्बुला इन्वेस्टमेंट फंड, क्रेस्टा फंड और एपीएमएस इंवेस्टमेंट फंड के खातों को जब्त कर दिया गया है। तीनों फंड समूह के शीर्ष 12 निवेशकों में शामिल हैं और वार्षिक निवेशक प्रस्तुतियों के मुताबिक 31 मार्च 2020 की स्थिति के मुताबिक अडाणी समूह की पांच कंपनियों में इन फंड्स की लगभग 2.1 प्रतिशत से 8.91 प्रतिशत तक हिस्सेदारी थी। अडाणी समूह की पांच कंपनियों में उनकी हिस्सेदारी का मूल्य सोमवार को शेयरों में गिरावट से पहले तक 7.78 अरब अमरीकी डॉलर पर था।

यह भी पढ़ें: इन 4 तरह के सिक्कों के बदले मोटी रकम देने को तैयार हैं लोग, क्या आपके पास भी हैं ये

यह भी पढ़ें: कराने जा रहें है एफडी तो इस तरीके से बढ़ायें अपना रिटर्न, होगी ज्यादा कमाई

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X