1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. विरोध प्रदर्शन के बीच किसानों के लिए आई खुशखबरी, तमिलनाडु सरकार ने किया 12,110 करोड़ रुपये का कृषि ऋण माफ

विरोध प्रदर्शन के बीच किसानों के लिए आई खुशखबरी, तमिलनाडु सरकार ने किया 12,110 करोड़ रुपये का कृषि ऋण माफ

डीएमके के इसी वादे को करारा जबाव देने के लिए मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने आज किसानों का ऋण माफ करने की घोषणा की है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: February 05, 2021 13:24 IST
Tamil Nadu government announces farm loan waiver- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Tamil Nadu government announces farm loan waiver

नई दिल्‍ली। देश में लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के बीच तमिलनाडु राज्‍य के किसानों के लिए आज बड़ी खुशखबरी आई है। तमिलनाडु सरकार ने शुक्रवार को विधानसभा में 12,110 करोड़ रुपये मूल्‍य के कृषि ऋणों को माफ करने का ऐलान किया है। मुख्‍यमंत्री के पलानीस्‍वामी ने कहा कि सहकारी बैंकों से कृषि ऋण लेने वाले 16.43 लाख किसानों को सरकार के इस फैसले से लाभ मिलेगा। उल्‍लेखनीय है कि तमिलनाडु में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं और सत्‍ताधारी सरकार अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए किसानों को खुश करने में जुट गई है।

मुख्‍यमंत्री के पलानीस्‍वामी ने कहा कि यह योजना तत्‍काल प्रभाव से लागू होगी और इसके लिए आवश्‍यक वित्‍तीय संसाधन उनकी सरकार द्वारा उपलब्‍ध कराया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि एआईएडीएमके अकेली ऐसी पार्टी है जो अपने वादे पूरे करती है और नई कल्‍याणकारी योजनाओं को पेश करती है। विपक्षी पार्टी डीएमके के ऊपर निशाना साधते हुए उन्‍होंने कहा कि उन्‍होंने दो एकड़ जमीन देने का वादा किया था, जिसे वह कभी पूरा नहीं कर पाई।   

इससे पहले मुख्‍य विपक्षी दल डीएमके के अध्‍यक्ष एमके स्‍टालिन ने बुधवार को अपनी एक सभा में यह घोषणा की थी कि यदि उनकी पार्टी सत्‍ता में आती है तो वो कृषि ऋण, स्‍वर्ण ऋण और शिक्षा ऋण को माफ कर देंगे।

स्‍टालिन ने कहा कि 2006 विधानसभा चुनावों से पहले डीएमके ने 7000 करोड़ रुपये के सहकारी ऋणों को माफ करने का वादा किया था और जब एम करुणानिधि मुख्‍यमंत्री बने तो उन्‍होंने सबसे पहले सहकारी ऋणों को माफ करने के आदेश पर ही हस्‍ताक्षर किए।

स्‍टालिन ने कहा कि केंद्र की बीजीपी सरकार तीन नए कृषि कानून लेकर आई है, जो किसानों को बुरी तरह प्रभावित करने वाले हैं। इसी वजह से पूरे देश में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि यदि इस बार हम सत्‍ता में आते हैं तो हम इन कानूनों का तब तक विरोध करेंगे जबतक उन्‍हें वापस नहीं लिया जाता।

स्‍टालिन ने यह भी कहा था कि डीएमके के सत्‍ता में आने पर सभी कृषि ऋणों को माफ किया जाएगा, इसके लिए किसानों की श्रेणी को नहीं देखा जाएगा। डीएमके के इसी वादे को करारा जबाव देने के लिए मुख्‍यमंत्री के पलानीस्‍वामी ने आज किसानों का ऋण माफ करने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: भारतीय उपभोक्‍ता अब RBI में खोल सकेंगे अपना खाता, मिलेगी ये सुविधा

यह भी पढ़ें: भारत में बंद हुआ paypal, 1 अप्रैल से एलाॅन मस्क की कंपनी समेटेगी कारोबार

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने अबतक 296 मोबाइल एप्‍स को किया बंद

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में Gold के दाम उड़ा देंगे आपके होश

यह भी पढ़ें: अब मच्‍छर जनित बीमारियों के लिए भी मिलेगा सस्‍ता हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कवर

Write a comment