1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 5G Spectrum: 3G और 4G से कितना अलग होगा 5G? पढ़िए नीलामी से लेकर लॉन्चिंग तक की पूरी जानकारी

5G Spectrum: 3G और 4G से कितना अलग होगा 5G? पढ़िए नीलामी से लेकर लॉन्चिंग तक की पूरी जानकारी

5G Spectrum: केंद्र सरकार (Central Government) देश को पांचवीं जेनेरेशन (5G) की मोबाइल नेटवर्क (Mobile Network) की सुविधा जल्द देने जा रही है। भारत हाई-स्पीड इंटरनेट (High Speed Internet) को लागू करने के आखिरी चरण में पहुंच गया है। अब जल्द ही हम 5G इंटरनेट का लाभ उठा पाएंगे।

Vikash Tiwary Written By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Updated on: August 01, 2022 12:52 IST
इंटरनेट का अब तक का सफर- India TV Hindi
Photo:INDIA TV इंटरनेट का अब तक का सफर

Highlights

  • 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी पिछले 6 दिन से चल रही है।
  • अब तक सरकार को 1,49,966 रुपये की मिली है बोलियां
  • सेवाएं शुरु करने में इस साल के अंत तक का लग सकता है समय

5G Spectrum: केंद्र सरकार (Central Government) देश को पांचवीं जेनेरेशन (5G) की मोबाइल नेटवर्क (Mobile Network) की सुविधा जल्द देने जा रही है। भारत हाई-स्पीड इंटरनेट (High Speed Internet) को लागू करने के आखिरी चरण में पहुंच गया है। स्पेक्ट्रम की नीलामी हो रही है। जल्द ही इसकी नीलामी पूरी हो जाएगी। उसके बाद हम 5G इंटरनेट की सेवाओं का लाभ उठा पाएंगे। क्या आपने कभी सोचा है कि 5G के आने के बाद से आपका नेट कितना फास्ट हो जाएगा? आप कोई फिल्म कितने सेकेंड्स में डाउनलोड (Downloads) कर पाएंगे। हम आपको आगे इससे जुड़ी सभी जानकारी डिटेल में बताने जा रहे हैं।

कब से मिलेंगी 5G सेवाएं?

5G स्पेक्ट्रम की नीलामी पिछले 6 दिन से चल रही है। अब तक सरकार को 1,49,966 लाख करोड़ रुपये की बोलियां मिली हैं। स्पेक्ट्रम की नीलामी में देश की चार प्रमुख कंपनियां अडाणी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises), भारती एयरटेल (Bharti Airtel), वोडाफोन-आइडिया (Vodafone-Idea) और रिलायंस जियो (Reliance Jio) भाग ले रही हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि बुधवार को इसकी आखिरी बोली लगेगी। और 15 अगस्त के पहले-पहले तक स्पेक्ट्रम किसे मिलेगा, ये फाइनल हो जाएगा और सितंबर-अक्टूबर तक देश के कुछ शहरों में 5जी सेवाएं मिलनी शुरु हो जाएंगी। वहीं देश के सभी मुख्य शहरों तक सेवाएं शुरु करने में इस साल के अंत तक का समय लग सकता है। 

दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnaw) ने कहा कि 5जी की शुरुआत कई भौगोलिक क्षेत्रों की तुलना में भारत में सबसे तेजी से होगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि कई अन्य भौगोलिक क्षेत्रों की तुलना में हम कहीं अधिक तेजी से 5जी की शुरुआत करने में सफल रहेंगे। इसकी वजह यह है कि हमारी कई अन्य लागत नियंत्रण में हैं।’’

3G और 4G से कितना अलग होगा 5G?

5G नेटवर्क भारत का अब तक का सबसे तेज मोबाइल नेटवर्क होगा। जो कुछ ही सेकेंड्स में इंटरनेट से हमारी जरूरत की जानकारी लाकर देने में सक्षम होगा। इससे हम 3G और 4G की तुलना में तेज वीडियो डाउनलोड्स कर पाएंगे। 5G में लेटेंसी यानी धीमापन नेट चलाते वक्त महसूस नहीं होगा। लेटेंसी कम होने से नेटवर्क की स्पीड बेहद तेज हो जाएगी। इसके आने से हमें  टेलीमेडिसिन, माइनिंग, वेयरहाउसिंग और मैन्युफैक्चरिंग जैसे सेक्टर के काम में तेजी देखने को मिलेगी। 

5G और 4G में क्या होगा अंतर

Image Source : INDIA TV
5G और 4G में क्या होगा अंतर

इन देशों में पहले से है 5-G

इन देशों में पहले से है 5G

Image Source : INDIA TV
इन देशों में पहले से है 5G

यहां शुरु हुई सबसे पहली सेवा

Image Source : INDIA TV
यहां शुरु हुई सबसे पहली सेवा

BSNL तेजी से बढ़ाएगी हिस्सेदारी

दूरसंचार मंत्री ने कहा, ‘‘दो कंपनियों का अधिकार बना रहे, ऐसा नहीं होगा। सितंबर में जो सुधार किए गए थे उससे उद्योग में अच्छी स्थिरता आई है। बीएसएनएल (BSNL) एक अच्छे बाजार संतुलनकर्ता के तौर पर उभरेगी।’’ उन्होंने कहा कि सरकार पूरे कानूनी ढांचे को बदलने की योजना बना रही है जिससे दूरसंचार उद्योग सुगमता के साथ विकसित हो सके।

 

Latest Business News