Thursday, February 29, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. अडानी ग्रुप स्टॉक्स ने निवेशकों को किया मालामाल, क्या कंपनियों के शेयरों में धुंआधार तेजी अभी जारी रहेगी? जानें

अडानी ग्रुप स्टॉक्स ने निवेशकों को किया मालामाल, क्या कंपनियों के शेयरों में धुंआधार तेजी अभी जारी रहेगी? जानें

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि राज्य चुनावों के बाद, बाजार में आशावाद पनपता है, जो नीति की निरंतरता की पुष्टि करता है और निवेशकों की अपेक्षाओं को पूरा करता है।

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: December 07, 2023 8:49 IST
गौतम अडानी- India TV Paisa
Photo:FILE गौतम अडानी

अडानी ग्रुप स्टॉक्स ने निवेशकों को मालामाल कर दिया है। आपको बता दें कि पिछले सात दिनों में अडानी ग्रुप ऑफ स्टॉक्स ने निफ्टी 50 से बेहतर प्रदर्शन किया है। बोनांजा पोर्टफोलियो के रिसर्च एनालिस्ट वैभव विदवानी ने कहा कि समूह की कंपनियों ने 16 फीसदी से 63 फीसदी के बीच शानदार रिटर्न दिया है। उन्होंने कहा कि अडानी टोटल गैस ने पिछले सात दिनों में 60 प्रतिशत से अधिक उछला है। इस स्टॉक में अब तक की सबसे अधिक 70.5 प्रतिशत की गिरावट आई थी और यह वर्तमान में अपने 52-सप्ताह के उच्चतम स्तर पर 73.65 प्रतिशत नीचे कारोबार कर रहा है। अडानी ग्रुप कंपनियों के स्टॉक्स में बड़ी तेजी के बावजूद ब्रोकरेज हाउस का मनना है कि हाल के राज्य चुनाव परिणामों के बाद रैली के बावजूद अभी भी शेयरों के मूल्यांकन में बड़ी तेजी की पर्याप्त गुंजाइश है। यानी स्टॉक्स में अभी और तेजी देखने को मिल सकती है। 

अदाणी पावर और अडानी पोर्ट्स 52-वीक हाई पर पहुंचे

अडानी समूह के दो कंपनी अदाणी पावर और अडानी पोर्ट्स इस अवधि के दौरान 52-सप्ताह के उच्चतम स्तर के करीब हैं। आपको बता दें कि ग्रुप कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त तेजी की बदौलत अडानी समूह की कंपनियों का संयुक्त बाजार मूल्यांकन (मार्केट कैप) बुधवार को बढ़कर 14.54 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। बाजार पूंजीकरण में तेजी समूह द्वारा ऊर्जा बदलाव की दिशा में वर्ष 2030 तक 75 अरब डॉलर का निवेश करने की योजना के ऐलान के बाद आई। समूह की कुल 11 में से आठ सूचीबद्ध कंपनियों के शेयर चढ़कर बंद हुए जिनमें से कुछ शेयरों में 20 प्रतिशत तक की तेजी रही। वहीं समूह की तीन कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही। कारोबार के दौरान कुछ कंपनियों के शेयर 52 सप्ताह के उच्चस्तर पर पहुंच गए और उनमें अपर सर्किट लगाना पड़ा। सांघी इंडस्ट्रीज, अडाणी पावर और अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड के शेयर 52 हफ्तों के अपने उच्चस्तर पर पहुंच गए। सर्वाधिक 19.98 प्रतिशत की तेजी अडानी टोटल गैस के शेयर में रही जबकि अडानी ग्रीन एनर्जी में 16.11 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई। अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस का शेयर 7.36 प्रतिशत चढ़ा और एनडीटीवी में 7.07 प्रतिशत की बढ़त रही। 

हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद आई थी बड़ी गिरावट 

अडानी समूह की कंपनियों का कुल बाजार मूल्यांकन एक कारोबारी सत्र में करीब 63,769 करोड़ रुपये उछल गया। यह हिंडनबर्ग रिपोर्ट की वजह से फरवरी-मार्च में आई भारी गिरावट के बाद पहला मौका है जब समूह की कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 15 लाख करोड़ रुपये के करीब पहुंचा है। जनवरी के अंत में आई हिंडनबर्ग रिपोर्ट में अडानी समूह पर कंपनियों के शेयरों की कीमतों में हेराफेरी और वित्तीय गड़बड़ियां करने के आरोप लगाए गए थे। हालांकि, समूह ने इन सभी आरोपों को नकारा दिया था। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि राज्य चुनावों के बाद, बाजार में आशावाद पनपता है, जो नीति की निरंतरता की पुष्टि करता है और निवेशकों की अपेक्षाओं को पूरा करता है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी और भारतीय दोनों बाजारों में मुद्रास्फीति और पैदावार में गिरावट से एफआईआई में मजबूत उलटफेर को बढ़ावा मिला है। 

इस कारण भी भारतीय बाजार में लौटी तेजी 

चीन की क्रेडिट रेटिंग में गिरावट और तेल की कीमतों में गिरावट के बाद भू-राजनीतिक तनाव में कमी के बाद भारतीय बाजार में तेजी आई। उन्होंने कहा कि अमेरिकी मंदी के जोखिम में कमी और गर्मियों में मजबूत मांग की उम्मीद से आईटी में मजबूत उछाल से बिजली क्षेत्र में तेजी आई है। उन्होंने कहा कि आशाजनक परिदृश्य के बावजूद घरेलू प्रीमियम मूल्यांकन संबंधी चिंताओं के कारण अल्पकालिक मुनाफावसूली हो सकती है।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement