Thursday, April 18, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Health Insurance: इन 5 कारणों की वजह से रिजेक्ट हो जाते हैं हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम, देखें पूरी लिस्ट

Health Insurance: इन 5 कारणों की वजह से रिजेक्ट हो जाते हैं हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम, देखें पूरी लिस्ट

Health Insurance लेते समय हमें कई बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे कि जरूरत के समय आपका क्लेम रिजेक्ट न हो।

Abhinav Shalya Written By: Abhinav Shalya
Updated on: February 23, 2024 12:42 IST
हेल्थ इंश्योरेंस - India TV Paisa
Photo:FILE हेल्थ इंश्योरेंस

बढ़ते मेडिकल खर्चों को देखते हुए हेल्थ इंश्योरेंस आज के समय में काफी जरूरी हो गया है। इस कारण से बड़ी संख्या में लोग हेल्थ इंश्योरेंस खरीद लेते हैं, लेकिन देखा जाता है कि कई बार जरूरत के समय हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी द्वारा आपका क्लेम खारिज कर दिया जाता है। इस समस्या को देखते हुए हमने प्रोबस इंश्योरेंस ब्रोकेर के डायरेक्टर, राकेश गोयल से बातचीत की है और उन कारणों के जानने की कोशिश की है, जिनकी वजह से हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम रिजेक्ट हो जाते हैं। 

किन कारणों से रिजेक्ट होता है हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम?

1.बीमारी कवर न होना: वेटिंग पीरियड या कोई विशेष बीमारी इंश्योरेंस में कवर न होने के कारण भी कई बार इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से क्लेम को रिजेक्ट कर दिया जाता है। इस वजह से इंश्योरेंस लेते समय हमेशा देखना चाहिए कि कौन-कौन सी बीमारियां इसमें कवर की गई हैं। 

2.पुरानी बीमारी: ज्यादा इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से पुरानी बीमारियों को कवर नहीं किया जाता है। ऐसे में जब भी इनसे जुड़ा कोई क्लेम आता है तो इंश्योरेंस कंपनियां रिजेक्ट कर देती है। 

3.समय से क्लेम न करना: हर इंश्योरेंस कंपनी की ओर से क्लेम दायरे करने के लिए एक डेडलाइन दी जाती है। अगर वह निकल जाती है तो आपके लिए क्लेम दायर करना मुश्किल हो जाता है। 

4.नॉन-ऑथराइजेशन: कुछ बीमारियों को लेकर इंश्योरेंस कंपनी का प्री-एप्रूवल या  ऑथराइजेशन लेना आवश्यक होता है। ऐसे में अगर आप कोई ऐसी बीमारी का इलाज करा रहे हैं जो ऑथराइजेशन के तहत आती है तो इंश्योरेंस कंपनी से एप्रूवल लेने के बाद ही इलाज कराए। इससे आपको क्लेम लेने में किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

5.जानकारी छुपना: कई बार इंश्योरेंस धारक की ओर से अपनी हेल्थ को लेकर बीमा कंपनी को सही जानकारी नहीं दी जाती है, लेकिन जब डॉक्टरों की ओर से रिपोर्ट की जांच की जाती है तो वह बीमारी साफ निकल कर आती है। ऐसे में कंपनी द्वारा क्लेम रिजेक्ट कर दिया जाता है। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement