1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कोरोना के मास्क ने बैठाया लिपस्टिक कंपनियों का भट्ठा, ब्यूटी प्रोडक्ट कंपनी Revlon होगी दीवालिया

कोरोना के मास्क ने बैठाया लिपस्टिक कंपनियों का भट्ठा, ब्यूटी प्रोडक्ट कंपनी Revlon होगी दीवालिया

महिलाओं की यही सोच कॉस्मेटिक्स (Cosmetics) कंपनियों के लिए मुश्किल का सबब बनी हुई है। हालत यह है कि अमेरिका की मशहूर कंपनी रेवलॉन इंक दिवालिया होने जा रही है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: June 11, 2022 16:31 IST
Lipstick - India TV Hindi News
Photo:FILE

Lipstick 

Highlights

  • कोविड बीमारी कॉस्मेटिक्स कंपनियों के लिए मुश्किल का सबब बनी हुई है
  • अमेरिका की मशहूर कंपनी रेवलॉन इंक (Revlon Inc) दिवालिया होने जा रही है
  • रेवलॉन अगले हफ्ते बैंकरप्सी के लिए आवेदन कर सकती है

दुनिया 2020 में आए कोरोना महामारी संकट से धीरे धीरे उबर रही है। महीनों के लॉकडाउन के बाद लोग घर से बाहर निकल रहे हैं, लेकिन मास्क का साया अभी भी चेहरे से हटा नहीं है। लोग पब्लिक प्लेस पर अभी भी मास्क का उपयोग कर रहे हैं। ऐसे में महिलाओं के बीच यह आम सोच है कि जब मास्क है तो लिपस्टिक या मेकअप क्यों?

महिलाओं की यही सोच कॉस्मेटिक्स (Cosmetics) कंपनियों के लिए मुश्किल का सबब बनी हुई है। हालत यह है कि अमेरिका की मशहूर कंपनी रेवलॉन इंक (Revlon Inc) दिवालिया होने जा रही है। रेवलॉन अगले हफ्ते बैंकरप्सी के लिए आवेदन कर सकती है। यह खबर बाहर आते ही अमेरिकी बाजारों में लिस्टेड कंपनी के शेयरों के भाव घटकर आधे हो गए हैं। शुक्रवार को बाजार ​बंद होते वक्त कंपनी का शेयर 53 फीसदी टूट चुका था। 

कर्ज के ढेर पर कंपनी 

रेवलॉन कोरोना महामारी के बाद से ही कर्ज के ढेर पर बैठी है। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक मार्च के मध्य तक कंपनी पर 3.31 अरब डॉलर का कर्ज था। कोरोना की लहर समाप्त होने के बाद इस साल की शुरुआत से लोगों ने बाहर निकलना शुरू किया है, इसके साथ ही मेकअप प्रोडक्ट्स की मांग में तेजी आई है। लेकिन मार्केट लीडर रही रेवलॉन की राह अभी भी मुश्किल है। उसे अभी भी छोटे ब्रांड से मुकाबला करना पड़ रहा है। 

सप्लाई चेन ने तोड़ी कमर 

पहले मांग में कमी उस पर सप्लाई चेन की बांधा, धड़ाधड़ सामने आ रही मुश्किलों के चलते कंपनी की हालत खराब है। सप्लाई चेन बाधित होने से कंपनी का प्रोडक्शन प्रभावित हुआ है, जिससे कंपनी अमेरिका सहित दुनिया के दूसरे बाजारों की मांग पूरी नहीं कर पा रही है। 

कंपनी होगी दीवालिया?

अमेरिका के मुख्य व्यवसायिक शहर न्यूयॉर्क की इस कंपनी का मालिकाना हक अरबपति कारोबारी रॉन पेरेलमेन की कंपनी मैकएंड्रयूज एंड फोब्स के पास है।

फिलहाल बैंकरप्सी के लिए आवेदन को लेकर रेवलॉन की ओर से बयान सामने नहीं आया है। लेकिन सूत्रों की मानें तो कंपनी इसके लिए आवेदन पर विचार जरूर कर रही है। संभव है इस प्लानिंग में कुछ बदलाव देखने को मिलें। 

Latest Business News

Write a comment