1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पहली बार अब इस देश में भी कर पाएंगे UPI से शॉपिंग, विदेश जाने वालों के लिए खुशखबरी

पहली बार अब इस देश में भी कर पाएंगे UPI से शॉपिंग, विदेश जाने वालों के लिए खुशखबरी

एनपीसीआई ने एक बयान में कहा कि इस गठजोड़ से नेपाल में लोगों के लिए सुविधा बढ़ेगी और डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा मिलेगा।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: February 17, 2022 18:09 IST
 विदेश जाने वालों...- India TV Paisa
Photo:FILE

 विदेश जाने वालों के लिए खुशखबरी, पहली बार अब इस देश में भी कर पाएंगे यूपीआई से शॉपिंग

Highlights

  • नेपाल भारत की यूपीआई प्रणाली को अपनाने वाला पहला देश बन गया है
  • डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में उल्लेखनीय मदद मिलेगी
  • गेटवे पेमेंट्स सर्विस (जीपीएस) और मनम इन्फोटेक के साथ हाथ मिलाया है

नयी दिल्ली। भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने बृहस्पतिवार को कहा कि नेपाल भारत की यूपीआई प्रणाली को अपनाने वाला पहला देश बन गया है, जिससे पड़ोसी देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में उल्लेखनीय मदद मिलेगी। एनपीसीआई की अंतरराष्ट्रीय शाखा एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल) ने नेपाल में सेवाएं देने के लिए गेटवे पेमेंट्स सर्विस (जीपीएस) और मनम इन्फोटेक के साथ हाथ मिलाया है। जीपीएस नेपाल में अधिकृत भुगतान प्रणाली परिचालक है। 

मनम इन्फोटेक नेपाल में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) को लागू करेगी। एनपीसीआई ने एक बयान में कहा कि इस गठजोड़ से नेपाल में लोगों के लिए सुविधा बढ़ेगी और डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा मिलेगा। बयान के मुताबिक, नेपाल, भारत के बाहर पहला देश होगा, जिसने नकद लेनदेन के डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने वाले भुगतान मंच के रूप में यूपीआई को अपनाया है। 

जीपीएस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) राजेश प्रसाद मनंधर ने कहा कि यूपीआई सेवा ने भारत में डिजिटल भुगतान के मामले में अत्यधिक सकारात्मक प्रभाव डाला है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि यूपीआई नेपाल में डिजिटल अर्थव्यवस्था को बदलने और कम नकदी वाले समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।’’ 

एनआईपीएल के सीईओ रितेश शुक्ला ने बयान में कहा, ‘‘हमें विश्वास है कि यह पहल एनआईपीएल की तकनीकी क्षमताओं और वैश्विक स्तर पर अपनी बेमिसाल पेशकश को बढ़ाने में मददगार होगी।’’ यूपीआई ने 2021 में 940 अरब डॉलर के 3,900 करोड़ वित्तीय लेनदेन को सक्षम किया, जो भारत के सकल घरेलू उत्पाद के लगभग 31 प्रतिशत के बराबर है। 

Write a comment
erussia-ukraine-news