1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Russia Ukraine News : भारत में फूटेगा महंगाई बम, पेट्रोल डीजल के साथ एक झटके में 'दोगुने' होंगे गैस के दाम

Russia Ukraine News : रूस यूक्रेन संकट से भारत में फूटेगा महंगाई बम, पेट्रोल डीजल के साथ एक झटके में 'दोगुने' होंगे गैस के दाम

क्रूड की तरह ही गैस पर भी संकट के बाद मंडरा रहे हैं। पेट्रोल डीजल से इतर गैस भी आपकी जेब को खाक करने की तैयारी में है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: February 24, 2022 11:13 IST
Gas Price- India TV Paisa
Photo:FILE

Gas Price

नई दिल्ली। यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध की बुरी छाया भारत पर भी पड़ती दिख रही है। इंटरनेशन मार्केट में जहां क्रूड के दाम 101 डॉलर प्रति बैरल पहुंच चुके हैं। वहीं संकट गहराता देख इसके 110 डॉलर प्रति बैरल पहुंचने की पूरी उम्मीद है। इसका असर पेट्रोल डीजल की कीमतों पर दिख सकता है। गनीमत इतनी है कि भारत में फिलहाल चुनाव है और कीमतें स्थिर हैं। यकीन मानिए मार्च में महंगाई बम फटने का पूरा बारूद तैयार है। 

क्रूड की तरह ही गैस पर भी संकट के बाद मंडरा रहे हैं। पेट्रोल डीजल से इतर गैस भी आपकी जेब को खाक करने की तैयारी में है। कोरोना संकट के बाद 2021 से जहां गैस की मांग बढ़ रही है, वहीं उत्पादन बेहद सुस्त है। वहीं यूक्रेन संकट के बीच दुनिया में गैस के सबसे बड़े केंद्र रूस को सुर्खियों में ला दिया है। यूरोप से लेकर अमेरिका तक गैस के संकट से डरे हुए हैं। भारत में भी अप्रैल से कीमतें डबल होना अब तय माना जा रहा है। 

अप्रैल में डबल हो सकती हैं कीमतें

दुनियाभर में गैस की भारी किल्लत के चलते अप्रैल का महीना भारत के लिए महंगाई लेकर आ सकता है। सरकार हर साल अप्रैल और अक्टूबर में नेचुरल गैस की कीमतों का निर्धारण करती है। अप्रैल की कीमत जनवरी से दिसंबर 2021 की अंतरराष्ट्रीय कीमतों पर आधारित होगी। ऐसे में पूरी उम्मीद है कि सरकार नेचुरल गैस की घरेलू कीमतों में बदलाव करेगी। इंडस्ट्री के जानकारों और एनालिस्ट्स का कहना है कि इसे 2.9 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू से बढ़ाकर 6 से 7 डॉलर किया जा सकता है। रिलायंस इंडस्ट्रीज कह रही है कि गहरे समुद्र से निकलने वाली गैस की कीमत 6.13 डॉलर से बढ़कर करीब 10 डॉलर हो जाएगी। 

आपकी जेब पर पड़ेगा बुरा असर 

विशेषज्ञों के अनुसार देश में गैस की कीमत दोगुना हो सकती है। इसका असर घरेलू गैस सिलेंडर के साथ ही सीएनजी और पीएनजी की कीमतों पर पड़ेगा। वहीं बिजली और फर्टिलाइजर पर सब्सिडी का खर्च भी सरकार की बैलेंस शीट खराब कर सकता है। ऐसे में सरकार के पास एकमात्र जरिया आप पर टैक्स बढ़ाना ही बचेगा। 

गैस 1 डॉलर महंगी तो आपकी जेब पर कितना असर 

बाजार के विशेषज्ञों के अनुसार गैस की कीमतों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छोटा सा बदलाव आपकी जेब पर तगड़ा असर करता है। घरेलू नेचुरल गैस की कीमत में एक डॉलर की तेजी होने पर सीएनजी की कीमत 4.5 रुपये प्रति किलो बढ़ जाएगी। इसकी मतलब है कि सीएनजी की कीमत में 15 रुपये प्रति किलो बढ़ सकती है।

Write a comment
erussia-ukraine-news