1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Cryptocurrency में 30% तक गिरावट के बाद जोरदार उछाल लेकिन विशेषज्ञ दे रहे हैं निवेश नहीं करने की सलाह, जानिए क्यों

Cryptocurrency में 30% तक गिरावट के बाद जोरदार उछाल लेकिन विशेषज्ञ दे रहे हैं निवेश नहीं करने की सलाह, जानिए क्यों

चीन के बाद अब रूस सेंट्रल बैंक ने Cryptocurrency पर बैन लगाने का प्रस्ताव दिया है। आने वाले दिनों में बिटकॉइन 29,000 हजार डॉलर के नीचे चला जा सकता है।

Alok Kumar Written by: Alok Kumar @alocksone
Updated on: January 23, 2022 16:15 IST
बिटकॉइन - India TV Paisa
Photo:FILE

बिटकॉइन 

Highlights

  • 29,000 हजार डॉलर से नीचे बिटकॉइन का भाव आने का अनुमान लगा रहे हैं विशेषज्ञ
  • नवंबर, 2021 में उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट का दौर जारी
  • लंबी अवधि के लिए निवेश करने की सलाह दे रहे हैं विशेषज्ञ छोटे निवेशकों को

नई दिल्ली। क्रिप्टोकरेंसी में बीते 24 घंटे में बड़ा उतार-चढ़ाव देखने को मिला है। बिटकॉइन समेत तमाम दूसरी क्रिप्टोकरेंसी में शानिवार को 10% से लेकर 30% की बड़ी गिरावट के बाद रविवार को जोरदार तेजी देखने को मिल रही है। बिटकॉइन, एथेरियम, टेरा, पोल्काडॉट समेत दूसरी क्रिप्टोकरेंसी में खबर लिखे जाने तक 5% से लेकर 25% तक की तेजी दर्ज की जा रही थी। हालांकि, इसके बाबजूद वित्तीय विशेषज्ञ छोटे और छोटी अ​वधि के निवेशकों को क्रिप्टोकरेंसी में निवेश नहीं करने की सलाह दे रहे हैं। उनका मानना है कि आने वाले दिनों में क्रिप्टो बाजार में और बड़ी गिरावट आने की आशंका है। इसके चलते क्रिप्टोकरेंसी में ब्लूचिप मानी जाने वाली करेंसी बिटकॉइन की कीमत 29,000 हजार डॉलर के नीचे जा सकती है। अगर, बिटकॉइन में इतनी बड़ी गिरावट आती है तो दूसरी क्रिप्टोकरेंसी का सहज अनुमान लगाया जा सकता है क्योंकि बिटकॉइन की चाल पर ही दूसरी करेंसी निर्भर करती है। 

छोटी अवधि के लिए बिल्कुल निवेश नहीं करें 

फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी फिनवे एफएससी के फाउंडर और सीईओ रचित चावला ने इंडिया टीवी को बताया कि मौजूदा दौर में जिस तरह के हालात क्रिप्टोकरेंसी को लेकर है उसको देखते इसमें बड़े उतार-चढ़ाव की संभवना है। चीन के बाद अब रूस सेंट्रल बैंक ने Cryptocurrency पर बैन लगाने का प्रस्ताव दिया है। बैंक ने कहा है ये काफी ज्यादा वोलेटाइल है और इसका यूज गलत कारणों में ज्यादा किया जाता है। इससे देश की फाइनेंशियल स्टेबिलिटी को खतरा है। भारतीय स्टेट बैंक भी इसी तरह की बात कह रहा है। अगर भारत में भी सख्ती बढ़ती है तो आने वाले दिनों में बिटकॉइन 29,000 हजार डॉलर के नीचे चला जा सकता है। वैसे भी बिटकॉइन अपने उच्च्तमर स्तर करीब 62 हजार डॉलर से करीब 50% टूट चुका है। ऐसे में मैं निवेशकों को सलाह देता हूं कि वो क्रिप्टोकरेंसी से मौजूदा समय में दूरी बनाकर रखें। अगर निवश करना ही है तो क्रिप्टोकरेंसी में ब्लूचिप मानी जाने वाली करेंसी बिटकॉइन और एथरियम आदि में लंबी अवधि का लक्ष्य लेकर निवेश करें। लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न मिलने की पूरी उम्मीद है। 

बिटकॉइन 

Image Source : INVESTING
बिटकॉइन 

बीते साल उच्च्तम स्तर पर था बिटकॉइन 

2021 कें नवंबर माह में बिटकॉइन , इथेरियम और अन्य क्रिप्टो करेंसियों में जोरदार बढ़त देखने को मिली थी। बिटक्वाइन और इथेरियम ने नवंबर, 2021 में अपना उच्चतम स्तर छुआ था। बिटक्वाइन करीब 62 हजार डॉलर पर पहुंच गया था। हालांकि, उसके बाद इनमें गिरावट का सिलसिला शुरू हुआ, जो जारी है। 

बिटकॉइन 

Image Source : INVESTING
बिटकॉइन 

भारत में क्रिप्टो निवेशक सबसे ज्यादा

एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, इस समय दुनिया में सबसे ज्यादा क्रिप्टो निवेश भारत में मौजूद हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि देश में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वालों की संख्या भारत में करीब 10.7 करोड़ हो चुकी है और 2030 तक क्रिप्टोकरेंसी में भारतीयों द्वारा निवेश बढ़कर 24.1 करोड़ डॉलर तक पहुंच सकता है।  

Write a comment
erussia-ukraine-news