1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. आखिरी घंटे में टूटा बाजार, ऊपरी स्तरों से 811 अंक गिरकर बंद हुआ सेंसेक्स

आखिरी घंटे में टूटा बाजार, ऊपरी स्तरों से 811 अंक गिरकर बंद हुआ सेंसेक्स

आज के कारोबार में सबसे ज्यादा गिरावट सरकारी बैंकों के स्टॉक में देखने को मिली है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: May 05, 2020 15:49 IST
Stock Market- India TV Paisa

Stock Market

नई दिल्ली। कारोबार के आखिरी डेढ़ घंटे में आई तेज बिकवाली की वजह से शेयर बाजार आज अपनी पूरी शुरुआती बढ़त गंवा कर नुकसान में बंद हुआ है। मंगलवार के कारोबार में सेंसेक्स 262 अंक गिरकर 31454 के स्तर पर औऱ निफ्टी 88 अंक की गिरावट के साथ 9206 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के अंत में सेंसेक्स में अपने ऊपरी स्तरों से 811 अंक की गिरावट देखने को मिली है। कारोबार में सबसे ज्यादा नुकसान सरकारी बैंकों के स्टॉक में देखने को मिला है।

आज बाजार में घरेलू संकेतों का असर देखने को मिला है। सोमवार से जारी उद्योगों की छूट की वजह से कारोबार में शुरुआती बढ़त देखने को मिली। हालांकि बैंकिंग स्टॉक में गिरावट बढ़ने से बाजार में दबाव बढ़ गया और प्रमुख इंडेक्स लाल निशान में पहुंच गए। लॉकडाउन में ढील के बीच कोरोना के मरीजों के मामलों में तेजी जारी रहने से बाजार की चिंताएं बढ़ी हैं। वहीं नतीजे और अर्थव्यवस्था से जुडे आंकड़े भी उम्मीद भरे नहीं रहे हैं।

आज के कारोबार में सबसे ज्यादा गिरावट सरकारी बैंकों में देखने को मिली है। मंगलवार के कारोबार में सरकारी बैंकों का इंडेक्स 3.2 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है। वहीं रियल्टी सेक्टर इंडेक्स में 2.87 फीसदी,  फार्मा सेक्टर में 1.96 फीसदी, मेटल सेक्टर इंडेक्स में 1.18 फीसदी और ऑटो सेक्टर इंडेक्स में 0.44 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई है।

निफ्टी में शामिल 34 कंपनियों के स्टॉक नुकसान के साथ बंद हुए हैं। इसमें SBI 4.17 फीसदी, बजाज फाइनेंस 3.78 फीसदी, ब्रिटानिया 3.62 फीसदी, एशियन पेंट्स 3.52 फीसदी औऱ टाटा मोटर्स 2.90 गिरावट के साथ बंद हुए है। दूसरी तरफ भारती इंफ्राटेल में 3.62 फीसदी, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 3.21 फीसदी और पावर ग्रिड में 2.89 फीसदी की बढ़त रही है।

मंगलवार को कारोबार में 80 से ज्यादा स्टॉक साल के नए निचले स्तर तक पहुंच गए। इसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शामिल है, स्टॉक आज 4 फीसदी से ज्यादा गिरा है। इसके अलावा बैंक ऑफ बड़ौदा, गोदरेज इंडस्ट्रीज, पीवीआर भी साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचे हैं।  

Write a comment
X