1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. Adani Group के शेयर होने वाले हैं रॉकेट, कंपनी के इस ऐलान से बढ़ेगा निवेशकों का भरोसा

Adani Group के शेयर होने वाले हैं रॉकेट, कंपनी के 500 मिलियन डॉलर के लोन चुकाने के ऐलान से बढ़ेगा निवेशकों का भरोसा

Adani Group Shares: बार्कलेज पीएलसी, स्टैंडर्ड चार्टर्ड पीएलसी और ड्यूश बैंक एजी उन बैंकों में शामिल हैं, जिन्होंने पिछले साल होल्सिम लिमिटेड की सीमेंट संपत्ति की खरीद के लिए अडानी को 4.5 बिलियन डॉलर का कर्ज दिया था। उस लोन का एक हिस्सा 9 मार्च को भरना है।

Vikash Tiwary Edited By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Updated on: February 09, 2023 13:08 IST
Adani Group  - India TV Paisa
Photo:FILE Adani Group के शेयर होने वाले हैं रॉकेट

Adani Group Loan Payment: जनवरी के आखिरी हफ्ता से लेकर अब तक का समय अडानी ग्रुप के लिए सबसे बुरा रहा है। एक्सपर्ट को इस बात पर यकीन है कि जल्द ही इसमें बदलाव होगा और अडानी ग्रुप के शेयर अपने उस ऊंचाई को टच करेंगे, जहां 24 जनवरी से पहले थे। दरअसल, अडानी ग्रुप ने अगले महीने बकाया 500 मिलियन डॉलर के ब्रिज लोन को चुकाने की योजना बनाई है, क्योंकि कुछ बैंकों ने शॉर्ट सेलर के हमले के बाद कर्ज को रिफाइनेंस करने से इनकार कर दिया था, जिससे समूह को तगड़ा नुकसान हुआ था। बार्कलेज पीएलसी, स्टैंडर्ड चार्टर्ड पीएलसी और ड्यूश बैंक एजी उन बैंकों में शामिल हैं, जिन्होंने पिछले साल होल्सिम लिमिटेड की सीमेंट संपत्ति की खरीद के लिए अडानी को 4.5 बिलियन डॉलर का कर्ज दिया था। उस लोन का एक हिस्सा 9 मार्च को भरना है।

लोन भरने की तैयारी में अडानी ग्रुप

एक्सपर्ट बताते हैं कि हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट प्रकाशित होने से एक सप्ताह पहले तक लोनदाता लोन को रिफाइनेंस करने के लिए बातचीत कर रहे थे। अडानी के एक प्रवक्ता ने कहा कि ग्रुप लोन के हिस्से को पुनर्वित्त करने के लिए बैंकों के साथ बातचीत कर रहा था, लेकिन ग्रुप इसे पूर्व भुगतान करने की योजना बना रहा है। प्रवक्ता ने कहा कि बैंकों के साथ बातचीत बंद नहीं हुई है। बार्कलेज और ड्यूश बैंक के प्रतिनिधियों ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। ग्रुप ने सोमवार को कहा कि अरबपति गौतम अडानी और उनके परिवार ने शेयरों द्वारा समर्थित 1.11 बिलियन डॉलर की उधारी चुकाई है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अडानी को उस लोन पर 500 मिलियन डॉलर से अधिक की मार्जिन कॉल का सामना करना पड़ा, जिससे भारतीय टाइकून को पूरा कर्ज चुकाने के लिए प्रेरित किया। अडानी ग्रुप ने कहा कि उसे मार्जिन कॉल के लिए औपचारिक अनुरोध प्राप्त नहीं हुआ था और "हमारी पूर्व भुगतान योजना के अनुसार" लोन जल्दी चुका दिया गया था।

117 बिलियन डॉलर की आई है गिरावट

हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद वैश्विक बैंक ग्रुप की अपनी जांच तेज कर रहे हैं। क्रेडिट सुइस ग्रुप एजी के इसी तरह के कदम के बाद सिटीग्रुप इंक की धन शाखा ने अडानी सिक्योरिटीज को मार्जिन ऋणों के लिए संपार्श्विक के रूप में स्वीकार करना बंद कर दिया है। अडानी का कॉर्पोरेट साम्राज्य, जो कभी दुनिया का दूसरा सबसे अमीर व्यक्ति था, वह हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद बुरी तरह फंस गया है। अडानी टोटल गैस लिमिटेड, अदानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड और अदानी ट्रांसमिशन लिमिटेड सहित दस अदानी ग्रुप की कंपनियों ने एक समय में बिक्री में अपने संयुक्त बाजार मूल्य से 117 बिलियन डॉलर कम कर दिए हैं।

Latest Business News