1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला जारी, सेंसेक्स 817 अंक उछला

शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला जारी, सेंसेक्स 817 अंक उछला

शनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 249.55 अंक यानी 1.53 प्रतिशत के उछाल के साथ 16,594 अंक के स्तर पर जाकर बंद हुआ।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: March 10, 2022 19:14 IST
senex- India TV Paisa
Photo:FILE

senex

Highlights

  • 55,464.39 अंक पर बंद हुआ सेंसेक्स
  • 16,594 अंक पर जाकर बंद हुआ निफ्टी
  • एशिया के अन्य बाजारों में अच्छी तेजी रही

मुंबई। एशियाई बाजारों के सकारात्मक रुख और विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अनुकूल रुझान से उत्साहित घरेलू शेयर बाजारों में लगातार तीसरे दिन भी तेजी रही और दोनों प्रमुख सूचकांक बृहस्पतिवार को 1.50 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ गए। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 817.06 अंक यानी 1.50 प्रतिशत बढ़कर 55,464.39 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 249.55 अंक यानी 1.53 प्रतिशत के उछाल के साथ 16,594 अंक के स्तर पर जाकर बंद हुआ। विश्लेषकों ने कहा कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये को मिली मजबूती से भी कारोबारी धारणा को समर्थन मिला। सेंसेक्स की शुरुआत मजबूती के साथ हुई और एक समय यह 1,595.14 अंक की छलांग लगा गया। हालांकि, बाद में यूरोपीय बाजारों में दिखी कमजोरी और कच्चे तेल की कीमतों की वजह से इसमें नरमी आई। कारोबार के अंत में यह 55,464.39 अंक पर बंद हुआ।

इन कंपनियों के शेयरों में रही तेजी

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, टाटा स्टील, एसबीआई, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, नेस्ले और मारुति सुजुकी इंडिया लाभ में रहीं। सर्वाधिक 5.17 प्रतिशत का लाभ हिंदुस्तान यूनिलीवर को हुआ। इसके उलट टेक महिंद्रा, डॉ रेड्डीज लैब और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज को 1.28 प्रतिशत तक का नुकसान उठाना पड़ा। सेंसेक्स में शामिल सिर्फ यही तीन कंपनियां घाटे में रहीं। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, रूस एवं यूक्रेन के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू होने की उम्मीद और एशियाई बाजारों में आए उछाल से घरेलू बाजारों को शुरुआती समर्थन मिला। उसके बाद बाजार की उम्मीदों के अनुरूप चुनावी नतीजे रहने से भी तेजी बनी रही। हेम सिक्योरिटीज में पीएमएस प्रमुख मोहित निगम ने भी इस राय से सहमति जताते हुए कहा, रूस-यूक्रेन वार्ता से अनुकूल नतीजे आने की उम्मीद बाजार ने लगाई हुई है। इसके अलावा विधानसभा चुनावों में भाजपा के अच्छे प्रदर्शन ने भी निवेशकों को मजबूती दी। व्यापक बाजार में बीएसई स्मॉलकैप एवं मिडकैप 1.18 प्रतिशत की बढ़त पर रहे। बीएसई के सभी क्षेत्र सूचकांक बढ़त पर रहे जिनमें एफएमसीजी, रियल्टी, धातु एवं बैंक सूचकांक 2.68 प्रतिशत तक चढ़ गए।

वैश्विक बाजार में रही तेजी 

एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग, तोक्यो एवं शंघाई बढ़त पर रहे। अमेरिका के बाजार भी बुधवार को खासी बढ़त लेने में सफल रहे थे। हालांकि, यूरोपीय बाजारों में दोपहर के सत्र में नरमी का रुख देखा गया। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 4.91 प्रतिशत के उछाल के साथ 116.6 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया। वहीं रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 19 पैसे की मजबूती के साथ 76.43 रुपया प्रति डॉलर के भाव पर पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों ने भारतीय बाजारों से निकासी का सिलसिला जारी रखा है। शेयर बाजार से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, विदेशी निवेशकों ने बुधवार को 4,818.71 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे। 

Write a comment
erussia-ukraine-news