Live TV
GO
Advertisement
Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थ एक्ट्रेस रश्मि देसाई को हुआ था...

एक्ट्रेस रश्मि देसाई को हुआ था 'सोरायसिस', जानें इस रोग के बारे में सबकुछ

रश्मि देसाई ने बताया कि वो स्किन संबंधी परेशानियों से जूझ रही थीं और इसकी वजह से उनका वजन भी बढ़ गया है। रश्मि को पिछले साल दिसंबर से ही सोरायसिस की समस्या है। सोरायसिस एक स्किन प्रॉब्लम होती है, जिसके कारण स्किन चकत्ते पड़ जाते है।

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 08 May 2019, 10:18:09 IST

हेल्थ डेस्क: टीवी सीरियल उतरन, बेलन वाली बहू और नागिन-3 जैसे शोज कर चुकीं एक्ट्रेस रश्मि देसाई ने हाल ही में खुलासा किया है कि वो एक बीमारी से जूझ रही हैं। रश्मि ने खुद एक इंटरव्यू में इस बात की जानकारी दी है। रश्मि देसाई ने बताया कि वो स्किन संबंधी परेशानियों से जूझ रही थीं और इसकी वजह से उनका वजन भी बढ़ गया है। रश्मि को पिछले साल दिसंबर से ही सोरायसिस की समस्या है। सोरायसिस एक स्किन प्रॉब्लम होती है, जिसके कारण स्किन चकत्ते पड़ जाते है।

सोरायसिस के कारण हो गई ये समस्या
रश्मि ने बताया, "मैं पिछले कुछ समय से कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रही थी। पिछले साल दिसंबर में मुझे सोरायसिस का पता चला, जो एक तरह का त्वचा रोग है। इसे ठीक होने में काफी समय लगा। कई बार तो ये पूरी तरह ठीक भी नहीं होता है। पिछले 4 महीने से मैं स्टेरॉइड ट्रीटमेंट ले रही थी, जिसके कारण मेरा वजन थोड़ा बढ़ गया है। मुझे पिछले कुछ समय से धूप में जाने के लिए मना किया गया था, क्योंकि धूप में ये समस्या (सोरायसिस) बढ़ जाती है। इसके अलावा स्ट्रेस के कारण भी ये समस्या काफी बढ़ जाती है। इसलिए डॉक्टर्स ने मुझे स्ट्रेस न लेने के लिए कहा। मगर मुझे स्ट्रेस (तनाव या चिंता) तो होना ही था, क्योंकि मैं एक एक्टर हूं और एक्टर के लिए उसका चेहरा ही सबकुछ होता है।"

ये भी पढ़ें- World Asthma Day: प्रेग्नेंसी के समय अस्थमा का खतरा सबसे अधिक, ऐसे बरतें सावधानी

रश्मि ने यह भी बताया कि वजन बढ़ने के कारण लोग उनपर कमेंट कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "मैं ऐसे लोगों को कोई जवाब नहीं देती, जो मेरे वजन पर कमेंट करते हैं। मैं मुस्कुराती हूं और आगे निकल जाती हूं। वजन घटाना आसान नहीं होता और मैं लगातार इसके लिए मेहनत कर रही हूं। लेकिन मुझे इसके कारण कोई तनाव या चिंता नहीं है। मेरा काम मुझे फोकस रहने की प्रेरणा देता है। पिछले दिनों मैंने ये सीख लिया है कि मुझे अपनी हेल्थ को पहली प्राथमिकता देनी है। मैं अपनी हेल्थ के साथ कोई समझौता नहीं कर सकती।"

सोरायसिस क्या है?
सोराइसिस को अक्सर स्किन इंफेक्शन या कॉस्मेटिक प्रॉब्लम माना जाता है, जिसका आसानी से इलाज हो सकता है। लेकिन सोराइसिस इसके बिल्कुल उलट है। दरअसल, सोराइसिस रोग तभी होता है जब रोग प्रतिरोधक तंत्र स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करता है। इससे त्वचा की कई कोशिकाएं बढ़ जाती है, जिससे त्वचा पर सूखे और कड़े चकत्ते बन जाते हैं, क्योंकि त्वचा की कोशिकाएं त्वचा की सतह पर बन जाती हैं।

ये भी पढ़ें- World Asthma Day 2019: दिखें ये संकेत तो न करें इग्नोर हो सकता है अस्थमा, ऐसे करें खुद का बचाव

सोराइसिस के लक्षण

  • अगर आपकी स्किन छिल्केदार, लाल रंग की पपड़िया जमी हो जाती है।
  • ड्राई, फटी हुई स्किन
  • स्किन में खुजली और जलन होना।
  • स्किन स्कल्प में खून की बूंदे दिखना।
  • शरीर में लाल-लाल धब्बे और चकत्ते हो जाते हैं।
  • घाव सूखे होते हैं; हथेलियों और तलवों पर अत्यधिक सूखापन फटी त्वचा और खून बहने का कारण बन सकते हैं।
  • रोग के सक्रिय चरण के दौरान त्वचा को खुजाने या काटने से उन्हीं क्षेत्रों में नए घावों का जन्म हो सकता है जिसे केबनर फेनोमिना कहा जाता है।
  • चिंता।
  • अवसाद।
  • क्रोध और चिड़चिड़ापन।

सोराइसिस रोग से ऐसे करें बचाव

  • कम से कम पानी से संपर्क बनाएं।
  • स्किन पर खरोंच न पड़ने दें।
  • ढीले कपड़े पहने। जिससे कि हवा लगें और स्किन में कसाव न हो।
  • अधिक से अधिक मॉश्चराइजर का यूज करें। सर्दियों के मौसम में इस बात का जरुर ध्यान रखें।  
  • कम से कम दवाओं का सेवन करें।
  • ह्यूडीफायर का यूज करें। इससे आपके घर में मॉश्चराइजर ज्यादा रहेगा।
  • एल्कोहॉल का सेवन न ही करें, तो आपके लिए बेहतर होगा।
  • कोशिश करें कि कम से कम धूप के संपर्क में आएं।
  • स्ट्रेस कम से कम लें। इसके लिए आप योग का सहारा ले सकते है।
  • अगर आप शॉवर का यूज करते है, तो न ही करें।

ये भी पढ़ें-

जानें आखिर एक्सरसाइज के साथ कौन सा स्पोर्ट्स ड्रिंक होगा परफेक्ट, जो रखें लंबे समय तक एनर्जी से भरपूर

आंखों के नीचे पड़े पीले चकत्ते हो सकता है डायबिटीज के कारण, जानें इस रोग के बारें में सबकुछ

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन