1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. COVID-19 से जा चुकी है अबतक इतने बैंककर्मियों की जान, IBA से साप्‍ताहिक हेल्‍थ बुलेटिन जारी करने की मांग

COVID-19 से जा चुकी है अबतक इतने बैंककर्मियों की जान, IBA से साप्‍ताहिक हेल्‍थ बुलेटिन जारी करने की मांग

अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से बैंक कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण को लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 22, 2021 13:54 IST
1,300 bank staff succumbed to Covid-19, IBA to issue weekly health bulletin- India TV Paisa
Photo:PTI

1,300 bank staff succumbed to Covid-19, IBA to issue weekly health bulletin

नई दिल्‍ली। बैंक संघ एआईबीईए ने भारतीय बैंक संघ (आईबीए) से कोविड-19 से प्रभावित बैंक कर्मचारियों का साप्ताहिक स्‍वास्‍थ्‍य ब्यौरा जारी करने का आग्रह किया है। ऑल इंडिया बैंक एम्पलॉइज एसोसिएशन (एआईबीईए) के अनुसार देश में अबतक 1300 से अधिक बैंक कर्मचारियों की कोविड-19 के कारण मौत हो गई हैं और कई कर्मचारी संक्रमित हुए हैं। एआईबीईए ने इसके अलावा भारतीय बैंक संघ से सभी कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वैक्सीन लगवाने में मदद करने का भी अनुरोध किया है ताकि वे बिना किसी डर के अपनी ड्यूटी करते रहें।

भारतीय बैंक संघ को लिखे पत्र में एआईबीईए के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में बड़ी संख्या में कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं, जिससे बैंक कर्मियों में दहशत का माहौल है। भारतीय बैंक संघ के आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2021 तक 600 बैंक कर्मचारियों की कोरोना के कारण मौत हो गई थी। यह आंकड़ा बढ़कर अब 1300 पर पहुंच गया हैं। उन्होंने कहा कि देश में करीब 13.50 लाख बैंक कर्मचारी हैं और 0.10 प्रतिशत कर्मचारियों की कोरोना के कारण अबतक मौत हो गई हैं। यह आंकड़ा राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों से काफी अधिक है और दर्शाता है कि बैंक कर्मचारियों के संक्रमित होने का खतरा अधिक है।

वेंकटचलम ने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से बैंक कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाने का आग्रह भी किया है। उन्होंने कहा कि अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से बैंक कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण को लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। बैंक कर्मचारियों को लगता है कि सरकार उनकी उपेक्षा कर रही हैं। जबकि वे अपना कर्तव्य निभा रहे हैं और बीमारी के खतरे के बीच लोगों की सेवा कर रहे हैं।

 
Write a comment
bigg boss 15