1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ईकॉमर्स कंपनी Flipkart को तगड़ा झटका, ईडी ने फेमा के उल्लंघन के लिए थमाया 10,600 करोड़ रु का नोटिस

ईकॉमर्स कंपनी Flipkart को तगड़ा झटका, ईडी ने फेमा के उल्लंघन के लिए थमाया 10,600 करोड़ रु का नोटिस

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विदेशी मुद्रा कानून के कथित उल्लंघन के लिए ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और उसके प्रवर्तकों को करीब 10,600 करोड़ रुपये का कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 05, 2021 12:23 IST
ईकॉमर्स कंपनी Flipkart को...- India TV Paisa
Photo:FILE

ईकॉमर्स कंपनी Flipkart को तगड़ा झटका, ईडी ने फेमा के उल्लंघन के लिए थमाया 10,600 करोड़ रु का नोटिस 

नयी दिल्ली। देश की प्रमुख ईकॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट को तगड़ा झटका लगा है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विदेशी मुद्रा कानून के कथित उल्लंघन के लिए ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और उसके प्रवर्तकों को करीब 10,600 करोड़ रुपये का कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

इस बीच ​फ्लिपकार्ट ने भी जवाब दिया है। वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट ने गुरुवार को कहा कि कंपनी एफडीआई नियमों सहित भारतीय कानूनों का अनुपालन करती है और प्रवर्तन निदेशालय के साथ सहयोग करेगी। फ्लिपकार्ट ने कहा कि वह एफडीआई नियमों सहित भारतीय कानूनों और विनियमों के अनुपालन में है। फ्लिपकार्ट ने कहा, "हम अधिकारियों के साथ सहयोग करेंगे क्योंकि वे अपने नोटिस के अनुसार 2009-2015 की अवधि से संबंधित इस मुद्दे को देखेंगे।"

आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) की विभिन्न धाराओं के तहत पिछले महीने 10 लोगों को नोटिस जारी किया गया था, जिनमें फ्लिपकार्ट, उसके संस्थापक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल शामिल हैं। 

सूत्रों ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद नोटिस जारी किया गया और कंपनी पर लगे आरोपों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) नियमों का उल्लंघन और बहु-ब्रांड खुदरा को विनियमित करना शामिल हैं। उन्होंने कहा कि वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली कंपनी और उसके अधिकारी अब न्यायिक फैसले का सामना करेंगे। एजेंसी के चेन्नई स्थित एक विशेष निदेशक-रैंक के अधिकारी इस कार्यवाही का संचालन करेंगे। 

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  Amazon के नए 'लोगो' में दिखाई दी हिटलर की झलक, हुई फजीहत तो किया बदलाव

पढें-  नया डेबिट कार्ड मिलते ही करें ये काम! नहीं तो हो जाएगा नुकसान

विंडलास बायोटेक, एक्सारो टाइल्स, देवयानी इंटू के आईपीओ पूरे स​ब्सक्राइब

विंडलास बायोटेक, एक्सारो टाइल्स, कृष्णा डायग्नोस्टिक्स और देवयानी इंटरनेशनल के आईपीओ को बुधवार को पहले दिन खुलने के कुछ घंटों के भीतर पूरा अभिदान मिल गया। विंडलास बायोटेक, एक्सारो टाइल्स, कृष्णा डायग्नोस्टिक्स और देवयानी इंटरनेशनल के आईपीओ बुधवार से अभिदान के लिए खुल गए हैं। इन कंपनियों की तरफ से आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) की पेशकश उस समय की गई है जब बीएसई का सेंसेक्स 54 हजार अंक के स्तर को पहली बार पार करने के साथ रिकॉर्ड स्तर पर है। नेशनल स्टाक एक्सचेंज के पास उपलब्ध आंकड़े के अनुसार पहले बोली के पहले दिन विंडलास बायोटेक के आईपीओ को 3.15 गुना, एक्सारो टाइल्स को 4.63 गुना, कृष्णा डायग्नोस्टिक्स को 1.98 गुना और देवयानी इंटरनेशनल को 2.69 गुना अभिदान प्राप्त हुए। 

Write a comment
Click Mania
uttar pradesh chunav manch 2021