1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. इस कंपनी ने अपने कर्मचारियों को रातों-रात बना दिया करोड़पति, बोनस में बांटे 8000 करोड़ रुपये के शेयर

इस कंपनी ने अपने कर्मचारियों को रातों-रात बना दिया करोड़पति, बोनस में बांटे 8000 करोड़ रुपये के शेयर

48 वर्षीय मैथ्यू ने जॉन गैलमोर के साथ मिलकर 2004 में कंपनी की स्थापना की थी और पिछले 16 साल के दौरान उन्होंने बहुत बड़ी संपत्ति अर्जित की है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 27, 2020 10:51 IST
मैथ्‍यू मॉल्‍डिंग ने 2004 में द हट ग्रुप की स्‍थापना की थी। - India TV Paisa
Photo: PUBLICITY PICTURE

मैथ्‍यू मॉल्‍डिंग ने 2004 में द हट ग्रुप की स्‍थापना की थी।

ब्रिटेन के अरबपति कारोबारी मैथ्‍यू मॉल्डिंग ने अपनी कंपनी द हट ग्रुप (The Hut Group) की सफलता के पीछे कर्मचारियों की मेहनत से खुश होकर बोनस के रूप में 83 करोड़ पौंड (लगभग 8183 करोड़ रुपये) मूल्‍य के शेयर बांट चुके हैं। यह ब्रिटिश इतिहास में दिया गया अबतक का सबसे बड़ा बोनस है। हट ग्रुप को इसी साल सितंबर में शेयर मार्केट में लिस्‍ट कराया गया था।

48 वर्षीय मैथ्‍यू ने जॉन गैलमोर के साथ मिलकर 2004 में कंपनी की स्‍थापना की थी और पिछले 16 साल के दौरान उन्‍होंने बहुत बड़ी संपत्ति अर्जित की है। मॉल्डिंग ने खुद यह स्‍वीकार किया है कि उन्‍होंने इंटरनेट की दुनिया में देरी से प्रवेश किया, सबसे पहले उन्‍होंने ऑनलाइन सीडी बेचने का काम शुरू किया लेकिन अब वह 100 से अधिक वेबसाइट का संचालन कर रहे हैं। उनका फोकस हेल्‍थ और ब्‍यूटी पर सबसे ज्‍यादा है और उनकी कंपनी कॉस्‍मेटिक्‍स से लेकर प्रोटीन सप्‍लीमेंट्स जैसे उत्‍पादों की बिक्री भी करती है। सबसे ज्‍यादा वह होंडा और नेस्‍ले उत्‍पादों की बिक्री ऑनलाइन करते हैं।

मॉल्डिंग ने अपनी सालाना सैलरी 750,000 पौंड को दान में दिया है। उन्‍होंने कोरोना वायरस महामारी के दौरान 1 करोड़ पौंड की राहत राशि भी प्रदान की है। ऑनलाइन दिग्‍गज कारोबारी मॉल्डिंग ने अपनी सफलता के पीछे सबसे बड़े सहयोगी रहे अपने कर्मचारियों को भी पुरस्‍कृत किया है।

पिछले साल हट ग्रुप ने अपने कर्मचारियों को 2.1 करोड़ पौंड के शेयर बांटे थे। मॉल्डिंग ने बताया कि कंपनी द्वारा कर्मचारियों के लिए शेयर बायबैक स्‍कीम शुरू करने के बाद उसके बहुत से कर्मचारी करोड़पति बन गए हैं। बोनस शेयर पाने वाले कर्मचारियों में ड्राइवर्स से लेकर मैनेजर और मॉल्डिंग की पर्सनल असिस्‍टैंट भी शामिल है। उनकी पर्सनल असिस्‍टैंट 36 वर्ष की उम्र में रिटायर हुई और तबतक वह करोड़पति बन चुकी थी। 2004 में स्‍थापित होने के बाद से द हट ग्रुप अपने कर्मचारियों को अबतक कंपनी की शेयर पूंजी का 20 प्रतिशत से अधिक हिस्‍सा बांट चुकी है।  

Write a comment
X