ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जन-धन खाताधारकों की संख्या बढ़कर 43 करोड़, जमा राशि 1.46 लाख करोड़ रुपये हुई

जन-धन खाताधारकों की संख्या बढ़कर 43 करोड़, जमा राशि 1.46 लाख करोड़ रुपये हुई

वित्त मंत्रालय के मुताबिक कुल 43.04 करोड़ खातों में से 36.86 करोड़ यानी 85.6 प्रतिशत खाते सक्रिय है और इनमें प्रति खाता औसत जमा राशि 3,398 रुपये है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: August 28, 2021 15:12 IST
जन धन खातों में कुल...- India TV Paisa
Photo:PTI

जन धन खातों में कुल जमा 1.46 लाख करोड़ रुपये

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई) के तहत बैंक खाताधारकों की संख्या बढ़कर 43 करोड़ तथा इन खातों में जमा राशि बढ़कर 1.46 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गई है। वित्त मंत्रालय ने शनिवार यह जानकारी देते हुए बताया कि सरकार की प्रमुख वित्तीय समावेशन योजना के क्रियान्वयन के सात साल पूरे हो गए हैं। पीएमजेडीवाई की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने 15 अगस्त, 2014 को की थी। साथ ही इसे वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए इसे 28 अगस्त को शुरू किया गया था। 

यह राष्ट्रीय मिशन वित्तीय सेवाओं यानी बैंकिंग, धन भेजने की सुविधा, ऋण, बीमा, पेंशन जैसी सुविधाओं तक लोगों की आसान पहुंच सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया था। वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अर्द्ध-शहरी और ग्रामीण इलाकों में जन-धन खाताधारकों की कुल संख्या 18 अगस्त, 2021 तक 43.04 करोड़ हो गई है। इसमें से 55.7 प्रतिशत या 23.7 करोड़ खाताधारक महिलाएं हैं। मंत्रालय के अनुसार इस योजना के पहले वर्ष में 17.90 करोड़ जन-धन खाते खोले गए थे। वित्त मंत्रालय ने बताया कि कुल 43.04 करोड़ खातों में से 36.86 करोड़ यानी 85.6 प्रतिशत खाते सक्रिय है और इनमें प्रति खाता औसत जमा राशि 3,398 रुपये है। मंत्रालय ने कहा कि औसत जमा में वृद्धि खातों के बढ़ते उपयोग और खाताधारकों में बचत की आदत का एक और संकेत है। जन-धन खाताधारकों को जारी रूपे कार्ड की संख्या 31.23 करोड़ पर पहुंच गई है। 28 अगस्त, 2018 से रूपे कार्ड पर मुफ्त दुर्घटना बीमा कवर एक लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दिया गया है।

पीएमजेडीवाई अकाउंट्स मार्च 2015 में 14.72 करोड़ थे जो तीन गुना बढ़कर 18-08-2021 तक 43.04 करोड़ हो गए हैं। इस योजना से महिलाओं को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है, कुल अकाउंट्स में से 55 फीसदी अकाउंट्स महिलाओं के हैं। वहीं 67 फीसदी जन धन खाते ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में हैं। साथ ही, कुल 43.04 करोड़ पीएमजेडीवाई खातों में से 36.86 करोड़ (86 फीसदी) चालू हैं, जबकि पीएमजेडीवाई खाताधारकों को जारी किए गए कुल रुपे कार्ड 31.23 करोड़ हैं। पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत कोविड लॉकडाउन के दौरान महिला पीएमजेडीवाई अकाउंट होल्‍डर्स के खातों में 30,945 करोड़ जमा किए गए हैं, जबकि लगभग 5.1 करोड़ पीएमजेडीवाई खाताधारक विभिन्न योजनाओं के तहत सरकार से डायरेक्‍ट बेनिफ‍िट ट्रांसफर लेते हैं।

यह भी पढ़ें: खत्म होगी गाड़ियों के एक राज्य से दूसरे राज्य में ट्रांसफर की टेंशन

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: पेट्रोल और डीजल में बढ़त से राहत, जानिये क्या है आज आपके शहर में कीमतें

Write a comment
elections-2022