1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. वर्ष 2021-22 सीमेंट उद्योग के लिए है संभावनाओं भरा, ग्रामीण बाजारों में सीमेंट की खपत उम्मीद से बेहतर

वर्ष 2021-22 सीमेंट उद्योग के लिए है संभावनाओं भरा, ग्रामीण बाजारों में सीमेंट की खपत उम्मीद से बेहतर

केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा अर्थव्यवस्था को खोलने की दिशा में कदम उठाने के साथ मई 2020 के बाद से हालात में सुधार हुआ

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 27, 2021 15:14 IST
Kumar Mangalam Birla says Prospects for cement industry in FY22 look bright - India TV Paisa
Photo:PTI

Kumar Mangalam Birla says Prospects for cement industry in FY22 look bright

नई दिल्‍ली। अल्ट्राटेक सीमेंट के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि कई सरकारी पहलों की मदद से भारतीय सीमेंट उद्योग की बिक्री बढ़ रही है और चालू वित्त वर्ष में इसके लिए उज्ज्वल संभावनाएं हैं। आदित्य बिड़ला समूह की फर्म की नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि बुनियादी ढांचा परियोजनाओं और प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) जैसी किफायती आवास योजनाओं पर सरकारी व्यय से सीमेंट उद्योग को वृद्धि हासिल करने में मदद मिलेगी।

कुमार मंगलम बिड़ला ने शेयरधारकों से कहा कि सीमेंट की मांग का आवास और बुनियादी ढांचा क्षेत्र से अत्यधिक जुड़ाव है। सरकार के 2022 तक सभी के लिए आवास मिशन और वर्तमान में जारी बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के चलते उद्योग की बिक्री बढ़ रही है। बिड़ला ने आगे कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 में उद्योग के लिए संभावनाएं उज्ज्वल दिख रही हैं।

कोरोना वायरस महामारी से उद्योग पर असर के बारे में बिड़ला ने कहा कि इसके चलते सीमेंट उद्योग में 10-12 प्रतिशत की गिरावट हुई, हालांकि दूसरी छमाही में इसमें तेजी से सुधार के संकेत दिखने लगे हैं। बिड़ला ने कहा कि उत्पादन बंद होने, राज्यों द्वारा प्रतिबंद्ध लगाने, मजदूरों के बड़े पैमाने पर पलायन करने के कारण वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में बाधाएं अधिक थीं। उन्होंने आगे कहा कि हालांकि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा अर्थव्यवस्था को खोलने की दिशा में कदम उठाने के साथ मई 2020 के बाद से हालात में सुधार हुआ और खासतौर से ग्रामीण बाजारों में सीमेंट की खपत उम्मीद से बेहतर थी।

डीएलएफ की बुकिंग बिक्री पहली तिमाही में लगभग सात गुना बढ़कर 1,014 करोड़ रुपये हुई

रियल एस्टेट क्षेत्र की कंपनी डीएलएफ लिमिटेड की बुकिंग बिक्री अप्रैल-जून के दौरान पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले लगभग सात गुना बढ़कर 1,014 करोड़ रुपये हो गई। कंपनी ने बताया कि गुरुग्राम में आलीशान मकानों की मांग बढ़ने के चलते उसकी बिक्री बढ़ी। कोविड-19 महामारी पर काबू पाने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के कारण वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी की बिक्री बुकिंग 152 करोड़ रुपये थी।

डीएलएफ ने निवेशकों को बताया कि उसने जून तिमाही के दौरान कोविड संक्रमण में बढ़ोतरी के बावजूद बिक्री की गति को बनाए रखा। डीएलएफ ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में कुल बुकिंग बिक्री में नई परियोजनाओं की शुरूआत ने 542 करोड़ रुपये का योगदान दिया। कंपनी ने कहा कि जून तिमाही के दौरान उसका शुद्ध कर्ज 141 करोड़ घटकर 4,745 करोड़ रुपये रह गया।

यह भी पढ़ें: Tata Motors ने मुश्किलों के बीच किया नई सफारी के 10,000वीं इकाई का निर्माण पूरा

यह भी पढ़ें: उत्‍तर प्रदेश के लोगों को अगस्‍त में मिलेंगी एक साथ दो बड़ी सौगात, शुरू हुई तैयारी

यह भी पढ़ें: Tata Motors ने EV को लेकर कही बड़ी बात...

यह भी पढ़ें:  कोरोना से बेहाल अर्थव्‍यवस्‍था के बाद भी सरकार को मिलने वाले टैक्‍स में आया भारी उछाल

 

Write a comment
Click Mania