1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन गिरावट, निफ्टी 15700 से नीचे बंद

शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन गिरावट, निफ्टी 15700 से नीचे बंद

कारोबार के दौरान सेंसेक्स में 461 अंक की गिरावट देखने को मिली वहीं इंडेक्स में अधिकतम 22 अंक की बढ़त भी दर्ज हुई। बैंकिंग, फाइनेंस और मेटल सेक्टर में आज गिरावट दर्ज हुई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 17, 2021 17:47 IST
लगातार दूसरे दिन...- India TV Paisa
Photo:PTI

लगातार दूसरे दिन बाजार में गिरावट

नई दिल्ली। शेयर बाजार में बृहस्पतिवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट देखने को मिली है। विदेशी बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों और बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र के दिग्गज स्टॉक्स में आई गिरावट की वजह से शेयर बाजार आज लाल निशान में बंद हुआ। हालांकि रिलायंस और टीसीएस में बढ़त से बाजार में नुकसान सीमित रहा। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 178.65 अंक यानी 0.34 प्रतिशत की गिरावट के साथ 52,323.33 अंक पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 76.15 अंक यानी 0.48 प्रतिशत गिरकर 15,691.40 अंक पर बंद हुआ। आज के कारोबार में बैंकिंग, फाइनेंशियल और मेटल सेक्टर में नुकसान देखने को मिला।    

कैसा रहा दिन का कारोबार  

शेयर बाजार पूरे दिन दबाव में रहा, कारोबार के दौरान सेंसेक्स का दिन का अधिकतम स्तर 52533.88 था जो कि पिछले बंद स्तर से सिर्फ 22 अंक ज्यादा था। वहीं सेंसेक्स 52040 का निचला स्तर भी छुआ। यानि सेंसेक्स में आज अधिकतम 461 अंक की गिरावट रही है। सेंसेक्स शेयरों में इंडसइंड बैंक 2.91 प्रतिशत, एचडीएफसी 1.37 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 1.23 प्रतिशत की गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.18 प्रतिशत और टीसीएस 1.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुए हैं।

क्यों आई बाजार में गिरावट

एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘‘अमेरिकी फेडरल रिजर्व के आर्थिक पूर्वानुमान को देखते हुए तेजड़िये पीछे हटे हैं। विकसित देशों की तुलना में उभरते बाजारों में आर्थिक पुनरूद्धार की दर धीमी होने से निवेशक सतर्क रुख अपना रहे हैं।’’ फेडरल रिजर्व ने कहा है कि वह मानक अल्पकालिक नीतिगत दर 2023 के आखिर तक दो बार बढ़ाएगा। इससे उपभोक्ता और कंपनी कर्ज पर असर पड़ेगा। इससे पहले, अमेरिकी केंद्रीय बैंक ने कहा था कि 2024 से पहले नीतिगत दर में बदलाव होने का कोई अनुमान नहीं है। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और हांगकांग बढ़त में रहे जबकि सोल और तोक्यो में गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.09 प्रतिशत की बढ़त के साथ 74.46 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

यह भी पढ़ें- कमाई का मौका: यहां लगाया पैसा तो हो सकता है 50% तक फायदा, दिग्गजों ने दी है सलाह

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने किसानों के लिये बड़ी राहत को दी मंजूरी, बंटेगी कुल 15000 करोड़ रुपये की मदद 

Write a comment
bigg boss 15