1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पाकिस्तान के पास पेट्रोल खरीदने के पैसे तक नहीं लेकिन देश का रक्षा बजट 11% बढ़ाया

पाकिस्तान के पास पेट्रोल खरीदने के पैसे तक नहीं लेकिन देश का रक्षा बजट 11% बढ़ाया

पाकिस्तान ने अपने रक्षा बजट में पिछले वर्ष के मुकाबले 11 फीसदी का इजाफा किया है। यह बजट अब कुल 1,523 अरब रुपए का कर दिया गया है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: June 11, 2022 15:34 IST
Pakistan's finance minister Miftaah ismaaile- India TV Hindi News
Photo:GOOGLE

Pakistan's finance minister Miftaah ismaaile

Highlights

  • पाकिस्तान के रक्षा बजट में 11% का इजाफा
  • वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने पेश किया वार्षिक बजट
  • अगले वित्त वर्ष के लिए अर्थव्यवस्था में पांच प्रतिशत वृद्धि का लक्ष्य

पाकिस्तान ने अपने रक्षा बजट में पिछले वर्ष के मुकाबले 11 फीसदी का इजाफा किया है। यह बजट अब कुल 1,523 अरब रुपए का कर दिया गया है। पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए संसद में 9,502 अरब रुपये का वार्षिक बजट पेश किया। इसमें रक्षा क्षेत्र के लिए 1,523 अरब रुपए आवंटित किये गए हैं। 

कर्ज में डूबे होने के बावजूद भी रक्षा बजट में की बढ़ोत्तरी

पाकिस्तान रक्षा क्षेत्र में वार्षिक आधार पर सबसे अधिक खर्च कर रहा है। वहीं, 2022-23 के लिए कुल चालू खर्च के 8,694 अरब रुपए पर रहने का अनुमान है, जो पिछले वित्त वर्ष के बजट के आंकड़े से 15.5 प्रतिशत अधिक है। बजट दस्तावेजों के मुताबिक, पाकिस्तान सरकार ने रक्षा क्षेत्र के लिए 1,523 अरब रुपए की प्रतिबद्धता जताई है, जो पिछले साल के 1,370 अरब रुपए अधिक है। हालांकि, इसे बाद में रक्षा मंत्रालय की मांग पर बढ़ाकर कर 1,450 अरब रुपए कर दिया गया था। इस साल 1,523 अरब रुपये का रक्षा आवंटन पिछले साल के 1,370 अरब रुपए के आवंटन की तुलना में 11.16 प्रतिशत अधिक है। इसके अलावा पाकिस्तान के बजट में कर्ज अदायगी पर खर्च बढ़कर कुल बजट का 29.1 प्रतिशत हो गया है। यह सरकार का सबसे बड़ा व्यय है और चालू व्यय का 45.4 प्रतिशत है। 

अगले वर्ष अर्थव्यवस्था में 5% बढ़ोत्तरी का लक्ष्य

वित्त मंत्री इस्माइल ने कहा कि सरकार ने अगले वित्त वर्ष के लिए अर्थव्यवस्था में पांच प्रतिशत वृद्धि का लक्ष्य रखा है। जो मौजूदा वित्त वर्ष के 5.9 प्रतिशत से कम है। हालांकि लक्ष्य 4.8 प्रतिशत था।

Latest Business News

Write a comment