Saturday, March 02, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Utter Pradesh में नौकरियों की होगी बौछार, नई औद्योगिक नीति लाकर पूरे राज्य में उद्योगों का जाल बिछाने की तैयारी

Utter Pradesh में नौकरियों की होगी बौछार, नई औद्योगिक नीति लाकर पूरे राज्य में उद्योगों का जाल बिछाने की तैयारी

Utter Pradesh में नौकरियों की होगी बौछार, नई औद्योगिक नीति लाकर पूरे राज्य में उद्योगों का जाल बिछाने की तैयारी Uttar Pradesh become hub of new jobs yogi Adityanath coming with new industrial policy

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: September 06, 2022 12:34 IST
Yogi AdityaNath - India TV Paisa
Photo:PTI Yogi AdityaNath

Highlights

  • बाजार की बदलती जरूरतों को ध्यान में रखते हुए नई औद्योगिक नीति लाने की तैयारी
  • वैश्विक प्रतिस्पर्द्धा की क्षमता बढ़ाने के मकसद से नई औद्योगिक नीति लाई जाएगी
  • उत्तर प्रदेश देश के भीतर आर्थिक वृद्धि के मामले में सबसे तेजी से बढ़ता राज्य

Utter Pradesh में आने वाले समय में नई नौकरी ढूंढने वालों का सबसे प्रमुख गंतव्य बनने जा रहा है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  (Yogi Adityanath), राज्य में औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए नई औद्योगिक नीति लाने की तैयारी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री का लक्ष्य उत्तर प्रदेश को एक लाख करोड़ डॉलर वाला पहला राज्य बनाने का है। इसी को ध्यान में रखकर नई औद्योगिक नीति लाने की तैयारी की कई है। आर्थिक विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर भारत में उत्तर प्रदेश तेजी से उद्योगों की पहली पंसद बनकर उभरा है। इस नई पहल से देश के साथ विदेशी कंपनियां उत्तर प्रदेश की ओर रुख करेंगी। इससे राज्य के चौमुखी विकास के साथ नौकरियों के अवसर में आपार वृद्धि होगी। यह पहल लाखों युवाओं को रोजगार मुहैया कराने में सफल साबित होगा।

खुद मुख्यमंत्री ने दी जानकारी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में लगने वाले उद्योगों के बीच वैश्विक प्रतिस्पर्द्धा की क्षमता बढ़ाने के मकसद से एक नई औद्योगिक नीति लाई जाएगी। योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम को ऑनलाइन माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार नई औद्योगिक नीति लाने की तैयारियों में जुटी हुई है। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश के भीतर एक लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था वाला देश का पहला राज्य बनने की क्षमता मौजूद है और राज्य सरकार ने वर्ष 2027 तक उत्तर प्रदेश को एक हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है।

बाजार की बदलती जरूरतों के अनुसार नई नीति

उन्होंने कहा, ‘‘हम बाजार की बदलती जरूरतों को ध्यान में रखते हुए नई औद्योगिक नीति लाने जा रहे हैं। इस नीति का एक प्रमुख उद्देश्य राज्य में स्थापित हो रहे उद्योंगों की वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता को बढ़ाना होगा।’’ योगी ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश नए भारत में एक मॉडल राज्य के तौर पर सामने आ रहा है और इसमें भारत का एक लाख करोड़ डॉलर वाला पहला राज्य बनने की क्षमता भी है।’’ उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को वर्ष 2027 तक पाने के लिए राज्य सरकार ने पहले से ही एक योजना लागू की हुई है और राज्य सरकार ने आर्थिक वृद्धि के उस स्तर को हासिल करने के लिए सभी जरूरी सुधार किए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल करने के लिए पिछले महीने डेलॉयट इंडिया को अपने सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया।

सबसे तेजी से बढ़ता राज्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश के भीतर आर्थिक वृद्धि के मामले में सबसे तेजी से बढ़ता राज्य है। इतनी बड़ी आबादी वाले राज्य को देश की अर्थव्यवस्था को पांच हजार अरब डॉलर तक ले जाने में अहम भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने पिछले पांच वर्षों में चार लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश आकर्षित किया है।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement