1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Voda Idea News: नवंबर से बंद होगी Vodafone Idea की सर्विस! कंपनी के महासंकट से 25.5 करोड़ ग्राहकों की आफत

Voda Idea News: नवंबर से बंद होगी Vodafone Idea की सर्विस! कंपनी के महासंकट से 25.5 करोड़ ग्राहकों की आफत

वोडाफोन आइडिया पर इंडस टावर्स (Indus Towers) का करीब 7,000 करोड़ रुपये का बकाया है। बीते लंबे वक्त से वोडा आइडिया इस बकाए को चुकाने में आनाकानी कर रही है।

Sachin Chaturvedi Edited By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: September 28, 2022 11:46 IST
Voda Idea Services- India TV Hindi
Photo:FILE Voda Idea Services

Voda Idea News: अगर आप भी वोडाफोन आइडिया के 25.5 करोड़ मोबाइल ग्राहकों में से हैं तो नवंबर का महीना आपके लिए आफत ला सकता है। देश की तीन निजी मोबाइल कंपनियों में से एक वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea Ltd.) की मुश्किलें और भी गहरा गई हैं। पहले से ही भारी कर्ज के तले दबी इस कंपनी को नवंबर से अपनी सेवाएं बंद करनी पड़ सकती है। इस पीछे टावर सेवाएं देने वाली कंपनी इंडस टावर्स पर भारी भरकम बकाया है। 

इंडस टावर्स पर 7000 करोड़ का बकाया

अंग्रेजी अखबार इकोनोमिक टाइम्स में छपी खबर के अनुसार वोडाफोन आइडिया पर इंडस टावर्स (Indus Towers) का करीब 7,000 करोड़ रुपये का बकाया है। बीते लंबे वक्त से वोडा आइडिया इस बकाए को चुकाने में आनाकानी कर रही है। अब इंडस टावर्स ने अंतिम चेतावनी देते हुए अक्टूबर तक पूरे पैसे के भुगतान करने को कहा है। यदि ऐसा नहीं होता है तो कंपनी ने नवंबर से टावर सेवाएं बंद करने की धमकी दे डाली है। 

इंडस टावर के अलावा ATCपर भी बकाया 

वोडाफोन आइडिया पर सिर्फ इंडस टावर्स का ही 7,000 करोड़ रुपये का बकाया नहीं है। बल्कि एक अन्य टावर सर्विस प्रोवाइडर अमेरिकन टावर कंपनी (ATC) का भी 2,000 करोड़ रुपये का बकाया है। इसी सप्ताह सोमवार को इंडस टावर्स के बोर्ड की मीटिंग हुई। इसमें कंपनी की वित्तीय स्थिति पर चर्चा हुई। इसके बाद इंडस टावर्स ने वोडाफोन आइडिया को 7 हजार करोड़ रुपये के बकाये की अदायगी के लिए पत्र लिखा है। 

आकंठ कर्ज में डूबी कंपनी 

वोडाफोन आइडिया देश में जियो और एयरटेल के बाद तीसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है। दरअसल तीन कंपनियों में यह आखिरी नंबर पर है। यह कंपनी भारी भरकम कर्ज में डूबी है। जून के अंत तक कंपनी पर 1.98 लाख करोड़ रुपये से अधिक कर्ज था। इसमें से 1.16 लाख करोड़ रुपये डेफर्ड पेमेंट बकाया है जबकि बैंकों और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस का 15,200 करोड़ रुपये का कर्ज है। कंपनी पर फिनलैंड की कंपनी नोकिया का 3,000 करोड़ रुपया और स्वीडन की कंपनी एरिक्सन का 1,000 करोड़ रुपये बकाया है।

5जी की दौड़ में भी पिछड़ी कंपनी 

जो कंपनी अपना कर्ज न चुका पा रही हो उससे 5जी में निवेश की बात करना बेमानी होता है। यही कारण है कि जहां एयरटेल और रिलायंस जियो अक्टूबर से 5जी सर्विस लॉन्च करने की तैयारी में हैं वहीं वोडाफोन आइडिया की ओर से अभी तक कोई ऐलान नहीं हुआ है। सूत्रों के मुताबिक ये कंपनियां वोडाफोन आइडिया से पिछला बकाया क्लीयर करने और नए कॉन्ट्रैक्ट्स के लिए एडवांस पेमेंट्स मांग रही हैं। इन कंपनियों का वोडाफोन आइडिया पर 13,000 करोड़ रुपये का बकाया है।

Latest Business News