1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सेबी ने निवेशकों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिये शुरू किया ‘स्मार्ट’ कार्यक्रम

सेबी ने निवेशकों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिये शुरू किया ‘स्मार्ट’ कार्यक्रम

सेबी ने स्मार्ट कार्यक्रम के तहत पहले बैच में पैनल में 16 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के 40 लोगों को शामिल किया है। इन लोगों को चार दिन का प्रशिक्षण नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटीज मार्केट (एनआईएसएम) में भी दिया गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: November 25, 2020 22:45 IST
सेबी का जागरुकता...- India TV Paisa
Photo:PTI

सेबी का जागरुकता कार्यक्रम

नई दिल्ली। बाजार नियामक सेबी ने बुधवार को निवेशकों के बीच शिक्षा और जागरूकता बढ़ाने के इरादे से प्रतिभूति बाजार प्रशिक्षक (स्मार्ट) कार्य्रक्रम की शुरूआत की। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के चेयरमैन अजय त्यागी के हवाले से एक बयान में कहा गया है, ‘‘अनिश्चितता और बाजार में असाधारण उछाल के मौजूदा हालात में निवेशक शिक्षा और जागरूकता से जुड़े प्रयासों को आगे बढ़ाने की काफी जरूरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस लिहाज से स्मार्ट कार्यक्रम शुरू करने का इससे बेहतर समय नहीं हो सकता है। सेबी की इस पहल का मकसद निवेशक शिक्षा की मौजूदा व्यवस्था को मजबूत बनाना है।’’

सेबी चेयरमैन ने कुछ ही क्षेत्रों में सक्रिय निवेशकों की मौजूदगी को लेकर चिंता जतायी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट कार्यक्रम दूरदराज के क्षेत्रों में निवेशकों तक पहुंच कर इस समस्या का समाधान करेगा। स्मार्ट कार्यक्रम ऐसे समय शुरू किया गया है जब देश भर में विश्व निवेशक सप्ताह मनाया जा रहा है। स्मार्ट कार्यक्रम के तहत पैनल में शामिल किये गये प्रशिक्षकों की सराहना करते हुए त्यागी ने खुदरा निवेशकों की मदद की जरूरत को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों में प्रतिभूति बाजार में नये निवेशकों के बढ़ने के साथ यह जरूरी हो गया है। उन्होंने वित्तीय शिक्षा के क्षेत्र में शेयर बाजारों, डिपॉजिटरी एवं मान्यता प्राप्त निवेशक संगठनों के माध्यम से सेबी की पहल को भी रेखांकित किया। सेबी ने स्मार्ट कार्यक्रम के तहत पहले बैच में पैनल में 16 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के 40 लोगों को शामिल किया है। इन लोगों को चार दिन का प्रशिक्षण नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटीज मार्केट (एनआईएसएम) में भी दिया गया है। नियामक ने कहा कि वह अखिल भारतीय स्तर पर स्मार्ट कार्यक्रम के तहत और प्रशिक्षकों को पैनल में शामिल करेगा। ये प्रशिक्षक अपने-अपने क्षेत्रों में निवेशक शिक्षा कार्यक्रम का संचालन करेंगे। स्मार्ट कार्यक्रम के तहत जिले के लिये उस प्रशिक्षक को पैनल में रखा गया है, जिससे वे ताल्लुक रखते हैं। निर्धारित मानदंड पूरा करने के बाद ही उन्हें प्रशिक्षक के तौर पर पैनल में शामिल किया गया है।

Write a comment