1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. COVID-19 टीका लगवा चुके लोगों के लिए आई खुशखबरी, सेंट्रल बैंक देगा 0.25 प्रतिशत अधिक ब्‍याज

COVID-19 टीका लगवा चुके लोगों के लिए आई खुशखबरी, सेंट्रल बैंक देगा 0.25 प्रतिशत अधिक ब्‍याज

इस नए उत्पाद का नाम Immune India Deposit Scheme है। इस स्कीम की परिपक्वता अवधि 1,111 दिन की होगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: April 13, 2021 17:02 IST
central bank of india launches scheme offers to provide higher FD interest rate if got covid 19 vacc- India TV Paisa
Photo:PTI

central bank of india launches scheme offers to provide higher FD interest rate if got covid 19 vaccine

नई दिल्‍ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बीच कोविड-19 टीका (COVID-19 vaccine) लगवा चुके या लगवाने जा रहे लोगों के लिए एक अच्‍छी खबर आई है। सार्वजनिक क्षेत्र के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India) ने लोगों को कोविड-19 का टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु एक विशेष जमा योजना शुरू करने की घोषणा की है।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने अपने बयान में कहा कि इस योजना के तहत बैंक टीका लगवा चुके लोगों को मान्य कार्ड दर पर 0.25 प्रतिशत अधिक ब्याज देगा। बैंक ने सोमवार को बयान में कहा कि इस नए उत्पाद का नाम इम्यून इंडिया डिपॉजिट स्कीम (Immune India Deposit Scheme) है। इस स्‍कीम की परिपक्वता अवधि 1,111 दिन की होगी। बैंक ने नागरिकों से सीमित अवधि की इस योजना का लाभ लेने के लिए टीका लगवाने का आग्रह किया है। बैंक ने कहा कि पात्र वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त ब्याज दर का लाभ दिया जाएगा।  

बीते वित्त वर्ष में बैंकों का ऋण 5.56 प्रतिशत, जमा 11.4 प्रतिशत बढ़ा

बैंकों का ऋण बीते वित्त वर्ष 2020-21 में 5.56 प्रतिशत बढ़कर 109.51 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इस दौरान बैंकों की जमा 11.4 प्रतिशत बढ़कर 151.13 लाख करोड़ रुपये हो गई। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। इससे पहले, वित्त वर्ष 2019-20 में बैंकों का ऋण या अग्रिम 6.1 प्रतिशत तथा जमा 7.9 प्रतिशत बढ़ी थी।

दोबारा Lockdown होने पर इन लोगों को क्‍या मिलेगा मुआवजा...

केयर रेटिंग्स की हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि फरवरी, 2020 से फरवरी, 2021 के दौरान हालांकि बैंकों की ब्याज दर 1.07 प्रतिशत घटी है, लेकिन जोखिम से बचाव और रिजर्व बैंक के पास अतिरिक्त नकदी रखने की वजह से बैंकों की कुल ऋण वृद्धि कम रही है। केयर रेटिंग्स ने कहा कि 2021-22 में अर्थव्यवस्था की वृद्धि और आधार प्रभाव की वजह से बैंक ऋण की वृद्धि अच्छी रहेगी। हालांकि, इसके साथ ही कोविड-19 महामारी की वजह से कई प्रमुख राज्यों में लॉकडाउन की वजह से ऋण वृद्धि नीचे की ओर जाने का जोखिम है। 

Honda कार्स खरीदने का शानदार मौका, कंपनी ने अप्रैल के लिए की भारी कैश डिस्‍काउंट की घोषणा

RBI ने किया बैंक ग्राहकों को अलर्ट, मनी ट्रांसफर की ये सुविधा नहीं होगी उपलब्‍ध!

35,000 वाला नया Samsung Galaxy A72 केवल 1944 रुपये में घर ले जाने का मौका, जानें क्‍या है ऑफर

Write a comment
X