1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. Flipkart ने नेपाल की सस्‍तोडील के साथ की साझेदारी, पड़ोसी देश में भी सामान बेच सकेंगे भारतीय व‍िक्रेता

Flipkart ने नेपाल की सस्‍तोडील के साथ की साझेदारी, पड़ोसी देश में भी सामान बेच सकेंगे भारतीय व‍िक्रेता

फ्लिपकार्ट ने कहा कि इस तरह के अवसरों से छोटे और मझोले कारोबारियों को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म की क्षमता में और अधिक विश्वास बढ़ता है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 21, 2020 16:36 IST
Flipkart partners with Sastodeal in Nepal- India TV Paisa
Photo:FLIPKART

Flipkart partners with Sastodeal in Nepal

नई दिल्‍ली। वॉलमार्ट के स्वामित्व वाले फ्लिपकार्ट ने शुक्रवार को कहा कि उसने नेपाल की सस्तोडील के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की है, जिससे फ्लिपकार्ट के लाखों विक्रेताओं को पड़ोसी देश के ई-कॉमर्स बाजार तक पहुंच मिलेगी। एक बयान के मुताबिक इस साझेदारी के तहत सस्तोडील फ्लिपकार्ट के विक्रताओं के 5,000 से अधिक उत्पादों को अपने मंच पर प्रदर्शित करेगा। इन उत्पादों में बच्चों की देखभाल से संबंधित सामान, ऑडियो डिवाइस, पुरुषों के कपड़े, महिलाओं के पारंपरिक परिधान और खेलकूद संबंधी सामान शामिल हैं।

बयान के मुताबिक फ्लिपकार्ट के निजी ब्रांड मारक्यू और स्मार्टबाय को भी सस्तोडील के मंच पर प्रदर्शित किया जाएगा। इसके तहत इलेक्ट्रॉनिक्स, घरेलू उपकरणों और साज-सज्जा जैसी श्रेणियों पर खासतौर से ध्यान दिया जाएगा। फ्लिपकार्ट ने कहा कि इस तरह के अवसरों से छोटे और मझोले कारोबारियों को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म की क्षमता में और अधिक विश्वास बढ़ता है।

बयान के मुताबिक सस्तोडील के साथ साझेदारी से दोनों देशों में लंबे समय के लिए ई-कॉमर्स उद्योग को मजबूती मिलेगी। इस समय पूरे भारत में फ्लिपकार्ट के दो लाख विक्रेता हैं, जिनमें से 50 प्रतिशत से अधिक जयपुर, लखनऊ, लुधियाना, मेरठ, सूरत, कानपुर, आगरा, कोयम्बटूर और अहमदाबाद जैसे शहरों से आते हैं।

फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस के प्रमुख जगजीत हरोड ने कहा कि सस्तोडील के साथ साझेदारी से न सिर्फ हमारे विक्रेताओं को व्यापक बाजार तक पहुंच मिलेगी, बल्कि उन्हें अपने कारोबार को बढ़ाने में भी मदद मिेलेगी। उन्होंने कहा कि नेपाल के ई-कॉमर्स व्यवसाय में बहुत अधिक संभावनाएं हैं, क्योंकि वहां अधिक से अधिक उपभोक्ता ऑनलाइन खरीदारी करते हैं।

Write a comment