1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. अगर आपके पास भी है LIC की कोई भी पॉलिसी तो आपके लिए है खुशखबरी, IPO में मिलेगा 10% आरक्षण

अगर आपके पास भी है LIC की कोई भी पॉलिसी तो आपके लिए है खुशखबरी, IPO में मिलेगा 10% आरक्षण

सचिव तुहिन कांत पांडेय ने संकेत दिया है कि एलआईसी के प्रस्तावित IPO में 10 प्रतिशत कोटा LIC के पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित किया जा सकता है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: February 03, 2021 17:41 IST
Good news for LIC policy holders can get 10 percent IPO share- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

Good news for LIC policy holders can get 10 percent IPO share

नई दिल्‍ली। खबरों की मानें तो बाकई यह भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के पॉलिसीधारकों के लिए अच्‍छी खबर है। वित्‍त मंत्री ने अपने बजट भाषण में देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी का आईपीओ पेश करने का प्रस्‍ताव किया है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय में निवेश एवं सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने संकेत दिया है कि एलआईसी के प्रस्‍तावित IPO में 10 प्रतिशत  कोटा LIC के पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित किया जा सकता है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय में निवेश एवं सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव के मुताबिक जिस तरह से खुदरा निवेशकों को सरकारी कंपनी के IPO में 10 प्रतिशत का रिजर्वेशन मिलता है, उसी तरह से एलआईसी के पॉलिसीधारकों को भी आईपीओ में रिजर्वेशन मिलेगा।

कब आएगा एलआईसी का आईपीओ

दीपम सचिव ने मंगलवार को बताया कि एलआईसी का आईपीओ इसी साल अक्टूबर के बाद आएगा। सचिव ने कहा कि केंद्र सरकार ने LIC और IDBI बैंक में हिस्सा बिक्री की प्रक्रिया शुरू करने के लिए जरूरी विधायी मंजूरी के लिए फाइनेंस बिल संसद में पेश कर दिया है। इसके लिए अब अलग से बिल नहीं आएगा, क्योंकि यह फाइनेंस बिल में ही शामिल कर दिया गया है। LIC के IPO से पहले वैल्यूएशन के लिए एक्चुअरियल फर्म को नियुक्त किया गया है। वहीं, Deloitte और SBI Capital को प्री-आईपीओ एडवाइजर नियुक्त किया गया है। सरकार आईपीओ के जरिये एलआईसी में अपनी केवल 10 प्रतिशत हिस्सेदारी ही बेचेगी। एक अनुमान के मुताबिक 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने पर सरकार को 90 हजार करोड़ रुपये से अधिक मिल सकते हैं।

बजट में विनिवेश नीति का ऐलान

मोदी सरकार विनिवेश पर पूरा जोर लगा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021-22 के लिए 1.75 लाख करोड़ रुपये का विनिवेश लक्ष्‍य रखा है। पिछले साल कोरोना की वजह से सरकार विनिवेश का लक्ष्य (2.1 लाख करोड़ रुपये) पूरा नहीं कर पाई है।

बिकेगी तमाम कंपनियों में हिस्‍सेदारी

केंद्र सरकार पहले ही एयर इंडिया, बीपीसीएल, शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में अपना हिस्सा बेचने की कवायद शुरू कर चुकी है। इसमें से एयर इंडिया में बिड पाने का पहला चरण पूरा हो चुका है, जल्द ही सरकार अगले चरण की शुरुआत करेगी। वहीं बीपीसीएल के लिए भी सरकार को बोलियां मिल चुकी हैं। शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के लिए बोली जमा करने का आखिरी तारीख 13 फरवरी 2021 तय की गई है। दीपम सचिव के मुताबिक बीपीसीएल और एयर इंडिया में हिस्सा बिक्री सितंबर तक पूरा कर ली जाएगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच 3 महीने में खाए 1,069 करोड़ रुपये के पिज्‍जा और डोनट्स...

यह भी पढ़ें: अब जमकर करें सोने-चांदी की खरीदारी, आज कीमत में आई इतनी जोरदार गिरावट

यह भी पढ़ें:  नई स्‍क्रैप पॉलिसी के बाद पुराने वाहनों को चलाना पड़ेगा जेब पर भारी...

यह भी पढ़ें: Jeff Bezos देंगे अपने पद से इस्तीफा, जानिए कौन हैं Amazon के CEO की जिम्‍मेदारी संभालने वाले एंडी जेसी

एलआईसी को पेंशन, समूह योजना खंड में एक लाख करोड़ रुपये की प्रीमियम आय प्राप्त

भारतीय जीवन बीम निगम (एलआईसी) को उसके पेंशन और समूह योजना खंड में चालू वित्त वर्ष के पहले 10 महीनों में रिकॉर्ड एक लाख करोड़ रुपये की प्रीमियम आय प्राप्त हुई है। एलआईसी ने मंगलवार को कहा कि यह पहला मौका है जब जीवन बीमा निगम के किसी एक खंड में इतनी बड़ी राशि प्रीमियम आय के रूप में प्राप्त हुई है। यह लगातार दूसरा साल है, जब इस खंड में अच्छी प्रीमियम आय प्राप्त हुई है।

कंपनी के बयान के अनुसार समूह योजनाओं और सेवानिवृत्त कारोबार का प्रबंधन करने वाले इस खंड में प्रबंधन अधीन परिसंपत्ति 7 लाख करोड़ रुपये से अधिक है। इन योजनाओं के जरिये एलआईसी कंपनियों को कर्मचारी सेवानिवृत्ति कोष प्रबंधन समाधान उपलब्ध कराती है। इस खंड में नये कारोबार प्रीमियम में उसकी बाजार हिस्सेदारी करीब 80 प्रतिशत है।

Write a comment