1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. एलन मस्‍क ने मारी पल्‍टी, Tesla ने Bitcoin से वाहन खरीद पर रोक लगाई

एलन मस्‍क ने मारी पल्‍टी, Tesla ने Bitcoin से वाहन खरीद पर रोक लगाई

फरवरी में टेस्ला इंक (Tesla Inc) ने कहा था कि उसने बिटक्वॉइन (Bitcoin) में 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया था।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 13, 2021 14:08 IST
Elon musk's Tesla applies brakes on Bitcoin for vehicle purchases- India TV Paisa
Photo:FORTUNE

Elon musk's Tesla applies brakes on Bitcoin for vehicle purchases

सैन फ्रांसिस्को। बिटकॉइन पर दो महीने से भी कम समय में तेजी का रूख अखितयार करने के बाद टेस्ला ने गुरुवार को पर्यावरणीय नुकसान का हवाला देते हुए अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीदने के लिए भुगतान मोड के रूप में लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी पर ब्रेक लगा दिया है। बुधवार को ट्वीट में एलन मस्क ने कहा कि टेस्ला कोई बिटकॉइन नहीं बेचेगी। इसके साथ इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीदने के लिए बिटक्‍वॉइन स्वीकार नहीं करेगी। मस्क ने लिखा है कि बिटक्‍वॉइन और दूसरी क्रिप्टोकरेंसी के यूज पर भी हम विचार कर रहे हैं।

इससे पहले फरवरी में अरबपति कारोबारी एलन मस्‍क (Elon Musk) की इलेक्ट्रोनिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला इंक (Tesla Inc) ने कहा था कि उसने बिटक्‍वॉइन (Bitcoin) में 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया है और भविष्य में वह अपने प्रोडक्ट्स और कारों की खरीदारी करने वालों से भुगतान में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को स्‍वीकार करने की इजाजत देने की योजना पर काम कर रही है। इस खबर के बाद क्रिप्टोकरेंसी बिटक्‍वॉइन की कीमत सर्वाधिक स्तर पर पहुंच गई थी।

विशेषज्ञों का कहना है कि दुनिया भर में जानीमानी कंपनियों द्वारा उठाया जाने वाला यह कदम बिटक्‍वॉइन के लिए एक गेम चेंजर साबित होगा। केंद्रीय बैंक अभी भी डिजिटल करेंसी को लेकर आशंकित बने हुए हैं, जबकि विश्‍लेषकों का कहना है कि वास्‍तविक दुनिया बिटकॉइन का उपयोग करने के लिए आतुर है। टेस्‍ला ने कहा कि बिटक्‍वॉइन में निवेश का फैसला इसके व्‍यापक इनवेस्‍टमेंट पॉलिसी का हिस्‍सा है क्‍योंकि कंपनी का लक्ष्‍य नगर पर अपने रिटर्न को विविध और अधिकमत बनाने का है।

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी मुद्रा है जिसे डिजिटल माध्यम के रूप में प्राइवेट तौर पर जारी किया जाता है। यह क्रिप्टोग्राफी और ब्लॉकचेन जैसी डिस्ट्रीब्यूटर लेजर टेक्नोलॉजी (डीएलटी) के आधार पर काम करती है। आसान भाषा में अगर कहा जाए तो ब्लॉकचेन एक ऐसा बही खाता है, जिसमें लेनदेन को ब्लॉक्स के रूप में रजिस्टर किया जाता है। क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल कर उन्हें लिंक कर दिया जाता है। क्रिप्टोग्राफी सूचनाओं को सहेजने और भेजने का ऐसा सुरक्षित तरीका है, जिसमें कोड का इस्तेमाल किया जाता है और सिर्फ वही व्यक्ति उस सूचना को पढ़ सकता है, जिसके लिए वह भेजी गई है।

सरकार का ऐलान, कल 9.5 करोड़ लोगों के बैंक खाते में डाले जाएंगे 2000-2000 रुपये...

5G को लेकर आई बड़ी खबर, शुरू होते ही इतने भारतीय करने लगेंगे इस्‍तेमाल

RBI ने दी देश को बड़ी खुशखबरी....

Covid के बीच बढ़ते ब्‍लैक फंगस खतरे से निपटने के लिए सरकार ने उठाया ये कदम

 

 

Write a comment
X