1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ई-श्रम पोर्टल पर अब तक असंगठित क्षेत्र के करीब 1.66 करोड़ श्रमिकों का पंजीकरण: श्रम मंत्रालय

ई-श्रम पोर्टल पर अब तक असंगठित क्षेत्र के करीब 1.66 करोड़ श्रमिकों का पंजीकरण: श्रम मंत्रालय

मुंबई में एक समारोह में श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड वितरित किये और ईएसआई कोविड राहत योजना में राहत भी जारी की

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: September 26, 2021 16:33 IST
ई-श्रम पोर्टल पर 1.66...- India TV Hindi
Photo:PTI

ई-श्रम पोर्टल पर 1.66 करोड़ श्रमिकों का पंजीकरण

नई दिल्ली। श्रम मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए बनाये गए ई-श्रम पोर्टल पर अब तक करीब 1.66 करोड़ श्रमिक अपना पंजीकरण करा चुके है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने शनिवार को मुंबई में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड वितरित किए। उन्होंने इस दौरान व्यक्तिगत रूप से 10 श्रमिकों को कार्ड सौंपे गये, जो अब देश में कहीं भी सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे। इसके अलावा यादव ने कोविड-19 से अपनी जान गंवाने वाले 11 श्रमिकों के आश्रितों को ईएएसआई कोविड-19 राहत योजना के लिए स्वीकृति पत्र भी दिए। साथ ही असंगठित क्षेत्र के 10 श्रमिकों को अटल बीमित व्यक्ति कल्याण राहत योजना के स्वीकृति पत्र वितरित किए।

मंत्रालय ने कहा कि ई-श्रम पोर्टल पर अबतक करीब 1.66 करोड़ असंगठित श्रमिकों का पंजीकरण हो चुका है और यह असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों से जुड़ा देश का पहला राष्ट्रीय डेटाबेस है। मंत्रालय के अनुसार विभिन्न क्षेत्रों के असंगठित श्रमिकों का व्यापक डेटाबेस तैयार करने की दिशा में उठाया गया यह पहला कदम है। इसमें निर्माण, परिधान विनिर्माण, मछली पकड़ना, फुटकर विक्रय, घरेलू काम, कृषि और संबद्ध वर्ग, परिवहन क्षेत्र आदि के असंगठित श्रमिक शामिल हैं।इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि असंगठित क्षेत्र के प्रत्येक श्रमिक का पोर्टल पर पंजीकरण हो, जिससे सरकार जान सकें कि प्रत्येक कारोबार में कितने श्रमिक हैं। उनके मुताबिक पोर्टल पर पहले ही 400 से अधिक कारोबारों की सूची बना ली गयी है। वहीं उन्होने जानकारी दी कि जो पोर्टल पर पंजीकरण करते हैं, वे अब 2 लाख रुपये तक का बीमा प्राप्त करने के पात्र हैं।"

Latest Business News