1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 6 जुलाई से शुरू हो रही गोल्ड बॉन्ड की चौथी सीरीज, जानिए निवेश से जुड़े हर सवाल का जवाब

6 जुलाई से शुरू हो रही गोल्ड बॉन्ड की चौथी सीरीज, जानिए निवेश से जुड़े हर सवाल का जवाब

चौथी सीरीज में बांड का इश्यू प्राइस 4,852 रुपये प्रति ग्राम तय

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 05, 2020 11:54 IST
Gold Bond- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

Gold Bond

नई दिल्ली। सोमवार से सॉवरने गोल्ड ब़ॉन्ड की चौथी सीरीज की शुरुआत होने जा रही है। सरकार ने सोने में निवेश को आसान, सुरक्षित और बेहतर रिटर्न वाला विकल्प बनाने के लिए इस बॉन्ड की शुरुआत की थी। आपके पास भी इस निवेश विकल्प को लेकर कई सवाल होंगे। आइये जानते हैं गोल्ड बॉन्ड से जुड़े सबसे आम सवालों के आसान जवाब

क्या हैं गोल्ड बॉन्ड

एसजीबी यानि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड एक गवर्नमेंट सिक्योरिटी है जो कि ग्राम में सोने की मात्रा के आधार पर जारी की जाती है। दरअसल ये ठोस सोने में निवेश का बेहतर विकल्प है क्योंकि इसे रखना आसान होता है और ठोस सोने के मुकाबले सुरक्षित भी होता है। इस बॉन्ड को सरकार की तरफ से रिजर्व बैंक जारी करता है।

क्या हैं गोल्ड बॉन्ड की खासियतें

गोल्ड बॉन्ड आपको दो तरह से फायदा देता है। आप इसके जरिए सोने में निवेश कर सकते हैं, वहीं इसमें आपको इश्यू प्राइस पर तय ब्याज भी मिलता है। इस साल के लिए ये ब्याज दर 2.5 फीसदी है। यानि बॉन्ड भुनाने पर आपको उस वक्त चल रही सोने की कीमत के आधार पैसा और इश्यू प्राइस पर ब्याज दोनो मिलते हैं। उदाहरण के लिए आपने अगर एक ग्राम सोना के लिए बॉन्ड खरीदा है तो आपको मैच्योरिटी पर एक ग्राम ही सोना मिलेगा भले ही उस वक्त सोने की कीमत कुछ भी हो, वहीं आज दिए गए इश्यू प्राइस पर पूरी अवधि के दौरान ब्याज भी मिलेगा।

क्या है गोल्ड बॉन्ड से जुड़े जोखिम

गोल्ड बॉन्ड से जुड़ा एकमात्र जोखिम है सोने की कीमतों में गिरावट से होने वाला कैपिटल लॉस। दरअसल गोल्ड ब़ॉन्ड में सोने की मात्रा सुरक्षित रहती है उसकी कीमत नहीं। ऐसे में आपको मैच्योरिटी पर सोने की मात्रा के आधार पर ही रिटर्न मिलेगा। हालांकि बॉन्ड पर ब्याज भी मिलता है इसलिए कीमतें गिरने पर समान अवधि में ठोस सोने के मुकाबले बॉन्ड में नुकसान कम होगा।

साल 2020-21 में गोल्ड बॉन्ड की क्या है योजना

रिजर्व बैंक इस साल 6 सीरीज में गोल्ड बॉन्ड जारी कर रहा है। सोमवार से शुरू होने वाली सीरीज चौथी है, इसके बॉन्ड 14 जुलाई को जारी किए जाएंगे। इसके बाद अगस्त में 3 से 7 अगस्त के बीच सब्सक्रिप्शन खुलेगा और बॉन्ड 11 अगस्त को जारी होंगे। सितंबर के लिए 31 अगस्त से 4 सितंबर के बीच सब्सक्रिप्शन खुलेंगे और बॉन्ड 8 सितंबर को जारी होंगे।

चौथी सीरीज के लिए क्या है इश्यू प्राइस

चौथी  सीरीज में बांड का इश्यू प्राइस 4,852 रुपये प्रति ग्राम तय हुआ है। उन निवेशकों को इसमें 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट देने का फैसला किया गया है जो ऑनलाइन आवेदन करेंगे और भुगतान डिजिटल माध्यम से करेंगे।

कैसे कर सकते हैं निवेश

बॉन्ड में निवेश के लिए रिजर्व बैंक ने कई माध्यम दिए हैं। निवेशक कर्मर्शियल बैंक , पोस्ट ऑफिस की खास शाखाएं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, बॉन्बे स्टॉक एक्सचेंज, स्टॉक होल्डिंग्स कॉर्पोरेशन कॉपोरेशन से बॉन्ड खरीद सकते हैं। NSE, BSE एजेंट के जरिए निवेश का विकल्प उपलब्ध कराते हैं। आम लोग बैंकों और पोस्ट ऑफिस और डीमैट अकाउंट के जरिए बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं। स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों को डीमैट में निवेश के विकल्प देते हैं, निवेशक इसके जरिए बॉन्ड खरीद सकते हैं। रिजर्व बैंक ने सभी कर्मर्शियल बैंक की लिस्ट जारी की है, जिसके जरिए बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं। इसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक, आईसीआईसीआई बैक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक शामिल है। ग्राहक अपने बैंक की शाखा या फिर डीमैट के जरिए निवेश कर सकते हैं।

Write a comment