1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. देश में कच्चे इस्पात का उत्पादन नवंबर महीने में 3.5 प्रतिशत बढ़कर 92 लाख टन

देश में कच्चे इस्पात का उत्पादन नवंबर महीने में 3.5 प्रतिशत बढ़कर 92 लाख टन

वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन की रिपोर्ट के मुताबिक एसोसिएशन में शामिल 64 देशों में कच्चे इस्पात का उत्पादन नवंबर 2020 में पिछले साल के मुकाबले 6.6 प्रतिशत बढ़कर 15.82 करोड़ टन रहा। पिछले साल के इसी महीने में देशों का कुल कच्चे इस्पात का उत्पादन 14.842 करोड़ टन था।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 27, 2020 21:08 IST
कच्चे इस्पात का...- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

कच्चे इस्पात का उत्पादन बढ़ा

नई दिल्ली। भारत में कच्चे इस्पात का उत्पादन नवंबर महीने में 3.5 प्रतिशत बढ़कर 92.45 लाख टन रहा। वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन के आंकड़े के अनुसार पिछले साल 2019 के इसी माह में कच्चे इस्पात का उत्पादन 89.33 लाख टन रहा था। वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन की नई रिपोर्ट के मुताबिक एसोसिएशन में शामिल 64 देशों में कच्चे इस्पात का उत्पादन नवंबर 2020 में पिछले साल के मुकाबले 6.6 प्रतिशत बढ़कर 15.82 करोड़ टन रहा। पिछले साल के इसी महीने में देशों का कुल कच्चे इस्पात का उत्पादन 14.842 करोड़ टन था।

रिपोर्ट में वर्ल्ड स्टील ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी के कारण मौजूदा कठिनाइयों को देखते हुए इस माह के आंकड़े को अगले महीने के उत्पादन अनुमान के साथ संशोधन किये जाने की संभावना है।’’ एसोसिएशन के आकड़ों के अनुसार चीन का इस्पात उत्पादन नवंबर 2020 में सालाना आधार पर 8 प्रतिशत बढ़कर 8.766 करोड़ टन रहा। पिछले साल इसी महीने में यह 8.119 करोड़ टन था। अमेरिका का उत्पादन इस अवधि में 61.20 लाख लाख टन रहा जो 2019 के नवंबर महीने में 70.88 लाख टन के मुकाबले 13.7 प्रतिशत कम है। जापान का उत्पादन चालू वर्ष में नवंबर महीने के दौरान 5.9 प्रतिशत घटकर 72.64 लाख टन रहा जो एक साल पहले 2019 के इसी महीने में 77.16 लाख टन था।

दक्षिण कोरिया का इस्पात उत्पादन इस अवधि के दौरान 2.4 प्रतिशत घटकर 57.6 लाख टन रहा जो एक साल पहले 2019 के नवंबर महीने में 59.04 लाख टन था। वहीं जर्मनी में कच्चे इस्पात का उत्पादन इस साल नवंबर महीने में 14.8 प्रतिशत बढ़कर 33.76 लाख टन रहा जो एक साल पहले इसी माह में 29.41 लाख टन था। ब्रसेल्स के वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन इस्पात उत्पादकों, राष्ट्रीय और क्षेत्रीय इस्पात उद्योग संगठनों और इस्पात अनुसंधान संस्थानों का प्रतिनिधित्व करता है। इसके सदस्य वैश्विक इस्पात उत्पादन का करीब 85 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करते हैं। महामारी की वजह से स्टील की मांग पर काफी बुरा असर देखने को मिला था हालांकि अब मांग में रिकवरी देखने को मिल रही है।

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X