1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नेपाल बनेगा भारत बायोटेक की COVAXIN इस्तेमाल करने वाला तीसरा देश, आपातकालीन उपयोग की मिली मंजूरी

नेपाल बनेगा भारत बायोटेक की COVAXIN इस्तेमाल करने वाला तीसरा देश, आपातकालीन उपयोग की मिली मंजूरी

नेपाल के राष्ट्रीय दवा नियामक प्राधिकरण ने शनिवार को भारत बायोटेक के नेपाल को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दे दी है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 20, 2021 13:56 IST
Covaxin- India TV Paisa
Photo:FILE

Covaxin

काठमांडू। नेपाल के राष्ट्रीय दवा नियामक प्राधिकरण ने शनिवार को भारत बायोटेक के नेपाल को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दे दी है। इस प्रकार भारत में स्वदेशी रूप से विकसित COVID-19 वैक्सीन को मंजूरी देने वाला नेपाल तीसरा देश बन गया है। काठमांडू पोस्ट की खबर के अनुसार ड्रग प्रशासन विभाग की दवा सलाहकार समिति की एक बैठक ने भारत सरकार समर्थित वैक्सीन COVAXIN को सशर्त आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण जारी करने का फैसला किया। COVAXIN नेपाल में अधिकृत तीसरी कोविड​​-19 वैक्सीन है।

पढ़ें- भारतीय कंपनी Detel ने पेश किया सस्ता इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर, जबर्दस्त हैं खूबियां

पढ़ें- शहर में भी लागू हो मनरेगा, मोदी सरकार को अर्थशास्त्री जयां द्रेज का सुझाव

COVAXIN, जिसके चरण 3 के क्लिनिकल ट्रायल में 81 प्रतिशत की प्रभावकारिता देखने को मिली है। COVAXIN को जनवरी में भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी गई थी और जिम्बाब्वे ने इस महीने की शुरुआत में इसे मंजूरी दे दी। भारत बायोटेक ने 13 जनवरी को नेपाल में अपने वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन किया था। 13 जनवरी को दायर किए गए तीन आवेदनों में से, विभाग ने पहली बार 15 जनवरी को ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका को आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण प्रदान किया था।

पढें-  Amazon के नए 'लोगो' में दिखाई दी हिटलर की झलक, हुई फजीहत तो किया बदलाव

पढें-  नया डेबिट कार्ड मिलते ही करें ये काम! नहीं तो हो जाएगा नुकसान

भारत की सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा कोविशील्ड के नाम से निर्मित एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को तब देश में लाया गया था। नेपाल ने 17 फरवरी को चीन के सिनोपार्म द्वारा विकसित BBIBP-CorV वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण प्रदान किया। 

नेपाल ने अपनी नेबरहुड फर्स्ट पॉलिसी के साथ अनुदान सहायता के तहत जनवरी में भारत द्वारा प्रदान की गई एस्ट्राजेनेका टीकों की एक मिलियन खुराक का उपयोग किया है। अब इसे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से 2 मिलियन AstraZeneca टीकों की एक और खेप का भी इंतजार है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, नेपाल में अब तक 275,750 मामले और 3,016 मौतें हुई हैं।

Write a comment
X