1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 21 तेल, गैस ब्लॉकों के लिए केवल तीन ने लगाई बोलियां; वेदांता और रिलायंस नहीं हुई शामिल

21 तेल, गैस ब्लॉकों के लिए केवल तीन ने लगाई बोलियां; वेदांता और रिलायंस नहीं हुई शामिल

पिछले पांच दौर की ओएएलपी बोलियों में 105 ब्लॉक के लिये बोलियां लगायी गयी थी। इसमें से वेदांता लि. ने 51 क्षेत्रों के लिये बोली लगायी। ओआईएल ने 25 और ओएनजीसी ने 24 ब्लॉक हासिल किये।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: October 12, 2021 17:31 IST
21 तेल गैस ब्लॉक की...- India TV Hindi News
Photo:PIXABAY

21 तेल गैस ब्लॉक की बोली में शामिल नहीं हुई RIL, वेदांता 

नई दिल्ली। भारत के 21 तेल और गैस ब्लॉक के लिये बोली के ताजा दौर में केवल तीन बोलीदाता सामने आये हैं। इनमें से दो सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) और ऑयल इंडिया लि. (ओआईएल) हैं। मुक्त क्षेत्र लाइसेंस नीति (ओएएलपी) बोली दौर-6 के तहत खोज एवं उत्पादन के लिये कुल 21 ब्लॉक या क्षेत्र की पेशकश की गयी थी। इसके लिये बोली जमा करने का समय छह अक्टूबर को समाप्त हो गया। पेश किये गये ब्लॉक के लिये प्राप्त बोली के बारे में उपलब्ध जानकारी के अनुसार ओएनजीसी और ओआईएल के अलावा एकमात्र सन पेट्रोकेमिकल्स ने बोली लगायी है। प्राप्त बोली के बारे में सूचना हाइड्रोकार्बन महानिदेशालय ने दी है। 
 
कुल 21 ब्लॉक में से 18 के लिये एक बोली और शेष तीन के लिये दो बोलीदाताओं ने बोलियां लगायी हैं। देश की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी ओएनजीसी ने 21 में से 19 के लिये बोली लगायी जबकि ओआईएल ने दो ब्लॉक के लिये बोली लगायी है। ओएनजीसी 16 ब्लॉक के लिये एकमात्र बोलीदाता है जबकि ओआईएल दो क्षेत्रों के लिये एकमात्र बोलीदाता है। सन पेट्रोकेमिकल्स ने तीन ब्लॉक के लिये बोली लगायी है। उन क्षेत्रों के लिये उसकी प्रतिस्पर्धा ओएनजीसी के साथ है। ओएएलपी के पिछले दौर में वेदांता लि. और रिलायंस-बीपी ने संयुक्त रूप से बोली लगायी थी लेकिन इस बार इन कंपनियों ने कोई बोली नहीं लगायी। सरकार को उम्मीद है कि खोज एवं उत्पादन के लिये और क्षेत्रों को खोले जाने से देश में तेल एवं गैस उत्पादन को बढ़ाने तथा 90 अरब डॉलर के आयात बिल में कमी लाने में मदद मिलेगी। भारत अपनी तेल जरूरतों के लिये 85 प्रतिशत आयात पर निर्भर है। ऐसे में नये क्षेत्रों में भंडार मिलने से आयात पर निर्भरता में कमी आएगी। 
 
पिछले पांच दौर की ओएएलपी बोलियों में 105 ब्लॉक के लिये बोलियां लगायी गयी थी। इसमें से वेदांता लि. ने 51 क्षेत्रों के लिये बोली लगायी। ओआईएल ने 25 और ओएनजीसी ने 24 ब्लॉक हासिल किये। रिलायंस इंडस्ट्रीज और बीपी के संयुक्त उद्यम को एक ब्लॉक मिला था। इंडिया ऑयल कॉरपोरेशन, गेल, बीआरपीएल और एचओईसी भी एक-एक ब्लॉक हासिल करने में सफल रहीं। ओएएलपी-6 के तहत पेश 21 ब्लॉक 11 अवसादी बेसिन में फैले हैं। ये नौ राज्यों में 35,346 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हैं। इनमें से 15 ब्लॉक जमीन पर, चार छिछले जल-क्षेत्र और दो गहरे जल क्षेत्र में स्थित हैं।
 
 

Latest Business News

Write a comment