1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. Stock Market में आगे कितनी बड़ी गिरावट? India VIX के थर्मामीटर से नापें

India VIX इंडेक्स 21% उछलकर 27 के पार, जानिए, Stock Market में आगे कितनी बड़ी गिरावट?

इंडिया VIX का पूरा नाम ही Voltility Index है। जब यह इंडेक्स चढ़ता है तो इससे पता चलता है कि निवेशक घबराए हुए हैं।

Alok Kumar Edited by: Alok Kumar @alocksone
Published on: February 22, 2022 14:34 IST
share marekt - India TV Paisa
Photo:FILE

share marekt 

Highlights

  • इंडिया VIX का पूरा नाम ही Voltility Index है
  • एनएसई के द्वारा 2008 में इंडिया VIX इंडेक्स की शुरुआत की गई थी
  • इंडिया VIX का आंकलन पांच अहम बिंदुओं पर किया जाता है

नई दिल्ली। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध की आशंका से बीते पांच दिनों से भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी है। बाजार टूटने से निवेशकों को अरबों रुपये का नुकसान हुआ है। ऐसे में हर निवेशकों के मन में यह सवाल है कि आगे बाजार की चाल कैसी रहेगी? क्या शेयर बाजार में और बड़ी गिरावट आएगी या यहां से तेजी लौटेगी? अगर, आपके मन में भी यह सवाल है तो आपका इसका आकलन India VIX- वोलैटिलिटी इंडेक्स को समझ कर सकते हैं। मंगलवार को इंडिया VIX इंडेक्स 21% उछलकर 27  की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया है। ऐसे में इंडिया VIX इंडेक्स में इस उछाल के क्या है मायने है और इस इंडेक्स को देखकर आप कैसे आगे बाजार की चाल का आकलन कर सकते हैं, आइए जानते हैं। 

इंडिया VIX के असर को इस उदाहरण से समझते हैं

मंगलवार को इंडिया VIX इंडेक्स 21% उछलकर 27 के पार चला गया है। इंडिया VIX का पूरा नाम ही Voltility Index है। जब यह इंडेक्स चढ़ता है तो इससे पता चलता है कि निवेशक घबराए हुए हैं। अगर यह इंडेक्स 15 के आस-पास है, तो तो माना जाता है कि बाजार में गतिविधियां ठीक है। 15 से नीचे का इंडेक्स बाजार में आने वाली तेजी की ओर इशारा करता है। वहीं, दूसरी ओर यह जितना ऊपर जाता है, उतनी ही तेज गिरावट की आशंका रहती है। अब यह इंडेक्स 27 की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया है। यानी इसका मतलब है कि निवेशकों को अगले 30 दिनों के लिए 12 प्रतिशत अस्थिरता की उम्मीद है।अगले 30 दिनों में अगले वर्ष के लिए निफ्टी का मूल्य मौजूदा निफ्टी मूल्य से +12 प्रतिशत और -12 प्रतिशत के बीच रहने की उम्मीद है।

 एनएसई द्वारा 2008 में की गई थी शुरुआत 

एनएसई के द्वारा 2008 में इंडिया VIX इंडेक्स की शुरुआत की गई थी। वैसे यह कंसेप्ट सबसे पहले शिकागो बोर्ड ऑप्शन एक्सचेंज द्वारा 1993 में पेश की गई थी। इंडिया VIX का वैल्यू ब्लैक एंड स्कोल्स (B&S) मॉडल का उपयोग करके निकाला गया है। इंडिया VIX का आंकलन पांच अहम बिंदुओं पर किया जाता है जिसमें स्ट्राइक मूल्य, स्टॉक का बाजार मूल्य, एक्सपायरी टाइम, रिस्क फ्री रेट और और अस्थिरता शामिल है।

उच्चतम स्तर से काफी नीचे 

 इंडिया VIX में रिकॉर्ड उछाल से निवेशक डरे हुए हैं लेकिन अभी भी यह अपने उच्चतम स्तर से काफी नीचे है। इंडिया विक्स का ऑल टाइम हाई 92.53 है, जो नवंबर 2008 में आया था। उस वक्त पूरी दुनिया आर्थिक मंदी की चपेट में थी और ग्लोबल फाइनेंशियल क्राइसिस (Global Financial Crisis) ने बाजारों की सेहत बिगाड़ दी थी। उसके बाद मार्च 2020 में समय इंडिया विक्स 70 के पार गया था।

Write a comment
erussia-ukraine-news