1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. रेल यात्रियों के लिए शुरू हुई बेहद सस्ती प्रीपेड वाई फाई सेवा, जानिए क्या हैं प्लान

रेल यात्रियों के लिए शुरू हुई बेहद सस्ती प्रीपेड वाई फाई सेवा, जानिए क्या हैं प्लान

रेल टेल के मुताबिक कोविड-19 से पहले हर महीने करीब तीन करोड़ लोग इस योजना का उपयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने और यात्रियों की संख्या पहले की तरह होने पर प्रीपेड वाईफाई सेवा से 10-15 करोड़ रूपये वार्षिक राजस्व प्राप्त होने का अनुमान है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: March 04, 2021 21:06 IST
रेल या6ियों के लिए...- India TV Paisa
Photo:PTI

रेल या6ियों के लिए प्रीपेड वाई फाई सेवा

नई दिल्ली। भारतीय रेल के सार्वजनिक उद्यम रेलटेल ने बृहस्पतिवार से अपनी प्रीपेड वाई फाई सेवा शुरू कर दी। इसके तहत फिलहाल देश के 4,000 रेलवे स्टेशनों पर यात्री पहले से भुगतान करके हाई-स्पीड इंटरनेट सेवा का उपयोग कर सकेंगे।

क्या है नई सेवा

रेलटेल पहले से ही देश के 5,950 स्टेशनों को मुफ्त वाईफाई सेवा दे रहा है जिसका उपयोग कोई भी स्मार्टफोन धारक कर सकता है। इसके लिए उपभोक्ता को ओटीपी आधारित सत्यापन कराना पड़ता है। योजना के तहत उपभोक्ता रोजाना अधिकतम 30 मिनट के लिए 1एमबीपीएस की स्पीड पर फ्री इंटरनेट का उपयोग कर सकता है। हालांकि इससे तेज स्पीड (34 एमबीपीएस तक) के लिए उपभोक्ता को बेहद कम शुल्क का प्री-पेड प्लान चुनना होगा।

क्या है नए प्रीपेड प्लान

  • एक दिन की वैधता के साथ 10 रुपये में पांच जीबी
  •  एक दिन वैधता के साथ 10 रुपये में 10 जीबी
  •  पांच दिन की वैधता के साथ 20 रुपये में 10 जीबी
  •  पांच दिन की वैधता के साथ 30 रुपये में 20 जीबी
  • 10 दिन की वैधता के साथ 40 रुपये में 20 जीबी
  •  10 दिन की वैधता के साथ 50 रुपये में 30 जीबी
  • और 30 दिनों की वैधता के साथ 70 रुपये में 60 जीबी डेटा

कैसे कर सकेंगे भुगतान

प्रीपेड भुगतान के लिए नेट-बैंकिंग, ई-वॉलेट और क्रेडिट कार्ड किसी का भी उपयोग किया जा सकता है। इसे ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। रेलटेल के सीएमडी पुनीत चावला ने कहा, ‘‘हमने उत्तर प्रदेश के 20 स्टेशनों पर प्रीपेड वाईफाई का परीक्षण किया और उससे मिली प्रतिक्रिया तथा विस्तृत परीक्षण के साथ हम इस योजना को भारत में 4,000 से ज्यादा स्टेशनों पर शुरू कर रहे हैं। हमारी योजना सभी स्टेशनों को रेलवायर वाईफाई से जोड़ने की है।’’  उन्होंने कहा कि डेटा योजना इस तरह से बनायी गई है कि कोई भी उपयोक्ता अपनी जरुरत के हिसाब से प्लान चुन सकता है। चावला ने बताया कि कोविड-19 से पहले हर महीने करीब तीन करोड़ लोग इस योजना का उपयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने और यात्रियों की संख्या पहले की तरह होने पर प्रीपेड वाईफाई सेवा से 10-15 करोड़ रूपये वार्षिक राजस्व प्राप्त होने का अनुमान है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बावजूद भारत में रिकॉर्ड विदेशी निवेश, 9 महीने में 67 अरब डॉलर से ज्यादा का FDI

यह भी पढ़ें: अमेजन की 4 से 7 मार्च तक 'मेगा होम समर सेल', देखें ऑफर की पूरी लिस्ट

Write a comment
X