1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. SBI कार्ड यूजर के पास आ रहा है ये मैसेज, गलती की तो हो जाएगा अकाउंट खाली

SBI कार्ड यूजर के पास आ रहा है ये मैसेज, गलती की तो हो जाएगा अकाउंट खाली

देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन के बढ़ने के ​साथ ही ऑनलाइन धोखाधड़ी (Online Fraud) भी तेजी से बढ़ रही है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 02, 2021 16:24 IST
SBI कार्ड यूजर के पास आ...- India TV Paisa

SBI कार्ड यूजर के पास आ रहा है ये मैसेज, गलती की तो हो जाएगा अकाउंट खाली

नई दिल्‍ली। देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन के बढ़ने के ​साथ ही ऑनलाइन धोखाधड़ी (Online Fraud) भी तेजी से बढ़ रही है। हैकर्स लगातार ग्राहकों को बड़ा लालच देते हुए उन्हें लूटने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इस बीच देश के सबसे बड़े बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने ग्राहकों को साइबर अटैक को लेकर चेतावनी दी है। एसबीआई के अनुसार बहुत से यूजर्स के पास हैकर्स की ओर से 9,870 रुपये के क्रेडिट पॉइंट को रिडीम का अनुरोध किया गया है। ग्राहक जब इस मैसेज का जवाब देते हैं तो उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है। 

पढ़ें-  भारत के सभी बैंकों के लिए आ गई ये सिंगल एप, ICICI बैंक ने किया कमाल

पढ़ें- ATM मशीन को बिना छुए निकाल सकते हैं पैसा, इस सरकारी बैंक ने शुरू की सुविधा

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसान, एसबीआई ग्राहकों को उनके क्रेडिट पॉइंट रिडीम करने के नाम पर मैसेज आते हैं। इसके लिए उन्हें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया फिल योर डिटेल्स फॉर्म भरवाया जाता है। इस फॉर्म में संवेदनशील फाइनेंशियल डिटेल जैसे कार्ड नंबर, एक्पायरी डेट, CVV और Mpin शेयर करने के लिए कहा जाता है।

दिल्ली स्थित थिंक टैंक साइबरपीस फाउंडेशन और ऑटोबोट इंफोसेक प्राइवेट लिमिटेड की रिपोर्ट के मुताबिक, इस फर्जी वेबसाइट पर पर्सनल जानकारी जैसे नाम, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, ईमेल, ईमेल पासवर्ड और डेट ऑफ बर्थ मांगी जाती है। फॉर्म सब्मिट होने के बाद यूजर्स को Thank you पेज पर रिडायरेक्ट किया जाता है। 

पढें-  दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों की प्राइज लिस्ट, ​जानिए कितने में मिलेगी कार और बाइक

पढ़ें-   यहां FASTAG है बेकार! इस एप के बिना नहीं मिलेगी Yamuna Expressway पर एंट्री

SBI के मुताबिक, वो कभी भी अपने ग्राहकों से SMS या ईमेल के जरिए संपर्क स्थापित नहीं करते हैं। जिसमें यूजर्स के अकाउंट के संबंध में लिंक होते हैं। स्‍टेट बैंक के मुताबिक, हैकर्स के निशाने पर खासतौर से दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद के लोग हैं। हैकर्स की ओर से भेजे गए ई-मेल को क्लिक करने पर यूजर किसी फर्जी वेबसाइट पर पहुंच जाते हैं। इसके बाद इस फर्जी वेबसाइट पर निजी या बैंक अकाउंट की जानकारी देने पर उन्हें भारी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ सकता है।

Write a comment
X