Sunday, July 07, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. मेरा पैसा
  4. विदेशों या दुबई से आप आधिकारिक रूप से कितना गोल्ड ला सकते हैं अपने साथ, जानिए क्या है नियम

विदेशों या दुबई से आप आधिकारिक रूप से कितना गोल्ड ला सकते हैं अपने साथ, जानिए क्या है नियम

आप अगर यह सोच रहे हैं कि विदेश से जितनी मर्जी सोने की जूलरी खरीदकर आप भारत ले आएंगे तो ऐसा नहीं है। विदेशी धरती से सोना खरीदने के साथ कुछ दायित्व भी जुड़े होते हैं जिन्हें हर भारतीय को जानना चाहिए।

Written By: Sourabha Suman @sourabhasuman
Updated on: May 30, 2024 9:24 IST
सीमा शुल्क से बचने के लिए, सोने का मूल्य आपके लिंग और विदेश में रहने की अवधि के लिए तय ड्यूटी फ्री ल- India TV Paisa
Photo:FREEPIK सीमा शुल्क से बचने के लिए, सोने का मूल्य आपके लिंग और विदेश में रहने की अवधि के लिए तय ड्यूटी फ्री लिमिट के भीतर रखें।

सोने से भारतीयों का एक भावनात्मक लगाव रहा है।  चाहे शादी समारोह हो या कोई शुभ कार्य, भारतीय अपने प्रियजनों को सौभाग्य के प्रतीक के रूप में सोने के आभूषण या सिक्के उपहार में देते हैं। एक तरह से यह संस्कृति, परंपरा और विरासत का प्रतीक है। ऐसे में जब कोई भारतीय विदेश यात्रा के बाद स्वदेश लौटता है तो अपने साथ सोने की जूलरी ले जाना चाहता है, क्योंकि दुबई सहित कुछ देशों में सोने की कीमत भारत के मुकाबले सस्ता है। लेकिन विदेशी धरती से सोना खरीदने के साथ कुछ दायित्व भी जुड़े होते हैं जिन्हें हर भारतीय को जानना चाहिए।

बिना शुल्क के कितना आभूषण साथ ला सकते हैं

नियमों के मुताबिक, एक भारतीय यात्री जो एक साल से अधिक समय से विदेश में रह रहा है, उसे अपने वास्तविक सामान में 20 ग्राम तक आभूषण बिना शुल्क के लाने की अनुमति है, जिसकी कीमत 50,000/- रुपये (सज्जन यात्री के मामले में) या 40 ग्राम तक आभूषण बिना शुल्क के लाने की अनुमति है, जिसकी कीमत 1,00,000/- रुपये (महिला यात्री के मामले में) है। अगर भारत आने वाले यात्री निर्धारित सीमा से अधिक सोने के आभूषण ले जाते हैं, तो उन्हें सोने पर कुछ सीमा शुल्क देना होगा। इसके अलावा, जो बच्चे एक साल से ज़्यादा विदेश में रह चुके हैं, वे दुबई से टैक्स फ्री सोने के आभूषण ले जा सकते हैं। हालांकि, वे सोने के सिक्के, बार या बिस्किट नहीं ले जा सकते।

कितना चुकाना होता है सीमा शुल्क

दुबई से भारत सोना लाने वाले भारतीय यात्रियों को यह ध्यान रखना चाहिए कि शुल्क-मुक्त भत्ता केवल सोने के आभूषणों पर ही लागू होता है। bayut के मुताबिक, सोने की छड़ों, सिक्कों और दूसरे जूलरी के लिए सीमा शुल्क आयात की गई मात्रा के आधार पर निर्धारित किया जाता है। दुबई से भारत सोना लाने पर आपको कीमत चुकानी होगी, जिसे सीमा शुल्क के तौर पर चुकाना होता है। यहां नीचे दिए गए वजन के मुताबिक लगने वाले सीमा शुल्क को जान लेते हैं।

  • 1 किलोग्राम से कम वजन वाले सोने की छड़ों पर 10% सीमा शुल्क
  • 20 ग्राम से 100 ग्राम वजन वाले सोने की छड़ों पर 3% सीमा शुल्क
  • 20 ग्राम से कम वजन वाले सोने की छड़ों पर कोई सीमा शुल्क नहीं
  • 20 ग्राम से 100 ग्राम वजन वाले सोने के सिक्कों पर 10% शुल्क
  • 20 ग्राम से कम वजन वाले सोने के सिक्कों पर कोई सीमा शुल्क नहीं
  • अगर वजन 20 ग्राम से अधिक नहीं है और कीमत 50,000 रुपये से कम है तो आभूषणों पर कोई सीमा शुल्क नहीं लगाया जाता है

भारत आन से पहले ध्यान दें

अपने सोने के मूल्य और प्रामाणिकता को प्रमाणित करने के लिए सभी संबंधित दस्तावेज, जैसे खरीदारी की रसीदें या चालान जरूर साथ रखें।  सीमा शुल्क से बचने के लिए, सोने का मूल्य आपके लिंग और विदेश में रहने की अवधि के लिए तय ड्यूटी फ्री लिमिट के भीतर रखें। और हां, अपनी यात्रा के दौरान सोने को सुरक्षित रखने के लिए ज़रूरी सावधानी बरतें। सोने के खोने या चोरी होने के जोखिम को कम करने के लिए सुरक्षित ट्रैवल पाउच का इस्तेमाल करें या अपने हैंड बैगेज में सोना रखें।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Personal Finance News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement