1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. SML Isuzu ने पंजाब संयंत्र में उत्‍पादन अस्‍थायी रूप से रोका, 11 जून तक नहीं बनेंगी कोई भी गाड़ी

SML Isuzu ने पंजाब संयंत्र में उत्‍पादन अस्‍थायी रूप से रोका, 11 जून तक नहीं बनेंगी कोई भी गाड़ी

कंपनी ने कहा कि मौजूदा स्थिति के मद्देनजर उसने अपने पंजाब के संयंत्र में उत्पादन को 11 जून तक अस्थायी रूप से स्थगित करने का फैसला किया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: June 07, 2021 18:34 IST
SML Isuzu temporarily suspends production at manufacturing plant in Punjab till June 11- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

SML Isuzu temporarily suspends production at manufacturing plant in Punjab till June 11

नई दिल्ली। वाणिज्यिक वाहन कंपनी एसएमएल इसुजु ने आपूर्ति मुद्दे और कमजोर मांग की वजह से पंजाब के अपने विनिर्माण संयंत्र में उत्पादन 11 जून तक अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया है। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि मौजूदा महामारी की स्थिति तथा कुछ राज्यों में लॉकडाउन की वजह कंपनी को अब भी अपने कुछ वेंडरों/आपूर्तिकर्ताओं से आपूर्ति के मुद्दे का सामना करना पड़ रहा है।

इसके अलावा स्कूल/शैक्षणिक संस्थान बंद होने से वाणिज्यिक वाहनों विशेषरूप से बसों की मांग बुरी तरह प्रभावित हुई है। कंपनी ने कहा कि मौजूदा स्थिति के मद्देनजर उसने अपने पंजाब के संयंत्र में उत्पादन को 11 जून तक अस्थायी रूप से स्थगित करने का फैसला किया है।

होंडा इंडिया फाउंडेशन ने हरियाणा, राजस्थान में पृथकवास केंद्र स्थापित किए

भारत में होंडा समूह की कंपनियों की कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) इकाई होंडा इंडिया फाउंडेशन ने हरियाणा और राजस्थान में कोविड-19 देखभाल पृथकवास केंद्र स्थापित किया है। होंडा फाउंडेशन ने सोमवार को बयान में कहा कि उसके नौरंगपुर (हरियाणा) के 100 बिस्तर के केंद्र और टपूकड़ा (राजस्थान) के 50 बिस्तर केंद्र का परिचालन शुरू हो गया है। बयान में कहा गया है कि ये दोनों केंद्र हरियाणा और राजस्थान सरकार के सहयोग के स्थापित किए गए हैं।

केंद्र पर चौबीसों घंटे प्रशिक्षित चिकित्सकों और नर्सें तैनात रहेंगी। साथ ही यहां अन्य जरूरी चिकित्सा सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। होंडा इंडिया फाउंडेशन ने पांच राज्यों.हरियाणा, राजस्थान, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश तथा गुजरात में कोविड-19 राहत प्रयासों के तहत 6.5 करोड़ रुपये खर्च करने की प्रतिबद्धता जताई है। संगठन ने कहा कि वह मानेसर (हरियाणा), अलवर (राजस्थान), कोलार (कर्नाटक) और गौतमबुद्ध नगर (उत्तर प्रदेश) में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र भी लगा रहा है।

 

 
Write a comment
X