1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पहली छमाही में गोल्ड ईटीएफ में 3,500 करोड़ रुपये का निवेश, कोविड 19 का असर

पहली छमाही में गोल्ड ईटीएफ में 3,500 करोड़ रुपये का निवेश, कोविड 19 का असर

कोविड 19 की वजह से अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता के संकेतों से सोने में निवेश बढ़ा

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 12, 2020 12:09 IST
Gold ETF inflow - India TV Paisa
Photo:FILE

Gold ETF inflow 

नई दिल्ली। गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) में चालू साल 2020 की पहली छमाही में शुद्ध रूप से 3,500 करोड़ रुपये का निवेश आया है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। कोविड-19 संकट के बीच निवेशक जोखिम वाली संपत्तियों में अपना निवेश घटाकर सुरक्षित निवेश विकल्पों की ओर रुख कर रहे हैं जिसके चलते गोल्ड ईटीएफ का आकर्षण बढ़ा है। इससे पिछले साल की समान छमाही यानी जनवरी-जून, 2018 के दौरान निवेशकों ने गोल्ड ईटीएफ से 160 करोड़ रुपये की निकासी की थी।

आंकड़ों के अनुसार, अगस्त, 2019 से गोल्ड ईटीएफ में शुद्ध रूप से 3,723 करोड़ रुपये का निवेश आया है। इस साल 30 जून को समाप्त छमाही में गोल्ड ईटीएफ को शुद्ध रूप से 3,530 करोड़ रुपये का निवेश मिला। मासिक आंकडों को देखा जाए, तो जनवरी में इसमें 202 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश आया। फरवरी में इस श्रेणी में 1,483 करोड़ रुपये का निवेश हुआ। वहीं मार्च में निवेशकों ने गोल्ड ईटीएफ से 195 करोड़ रुपये की निकासी की। अप्रैल में फिर गोल्ड ईटीएफ में 731 करोड़ रुपये का निवेश आया। उसके बाद मई में 815 करोड़ और जून में 494 करोड़ रुपये का निवेश आया। मॉर्निंगस्टार इन्वेस्टमेंट एडवाइजर इंडिया के वरिष्ठ शोध विश्लेषक (प्रबंधक शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार की उम्मीदें कमजोर पड़ी हैं। ऐसे में निवेशक जोखिम वाली अपनी संपत्तियों के लिए ‘हेजिंग’ कर रहे हैं और वे अपनी संपत्तियों के एक हिस्से का निवेश सोने में कर रहे हैं।’’

कोविड 19 की वजह से सोने की कीमतों में भी लगतार तेजी देखने को मिल रही है। सोना फिलहाल 50 हजार के रिकॉर्ड स्तर के करीब कारोबार कर रहा है। कमोडिटी मार्केट के जानकार अनुमान लगा रहे हैं कि सोना अगले कुछ महीनों में 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम का स्तर पार कर सकता है। वहीं विदेशी बाजारों में ये 2000 डॉलर प्रति आउंस का स्तर पार कर सकता है।

Write a comment
X