1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम पर रहेगी निवेशकों की नजर

महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम पर रहेगी निवेशकों की नजर

भारतीय शेयर बाजार की दिशा इस सप्ताह विदेशी संकेतों के साथ-साथ घरेलू कारकों से तय होगी, खासतौर से महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक घटनाक्रमों पर निवेशकों की नजर होगी। 

IANS IANS
Published on: November 24, 2019 16:44 IST
 NCP leaders Ajit Pawar with Maharastra Chief Minister Devendra Fadnavis in Mumbai- India TV Paisa
Photo:PTI

 NCP leaders Ajit Pawar with Maharastra Chief Minister Devendra Fadnavis in Mumbai

मुंबई। भारतीय शेयर बाजार की दिशा इस सप्ताह विदेशी संकेतों के साथ-साथ घरेलू कारकों से तय होगी, खासतौर से महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक घटनाक्रमों पर निवेशकों की नजर होगी। हालांकि नवंबर महीने के फ्यूचर एंड ऑप्शन अनुबंधों की एक्सपायरी को लेकर उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। घरेलू शेयर बाजार में पिछले सप्ताह मुनाफावसूली के कारण आखिरी दो सत्रों में कमजोरी के कारण सेंसेक्स और निफ्टी तकरीबन सपाट बंद हुआ, जबकि सप्ताह के दौरान सेंसेक्स फिर नई उंचाई 40,816.38 तक उछला।

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सहयोग से सरकार बनाई है, लेकिन दोबारा सत्ता की बागडोर संभालने वाले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सामने बहुमत विधानसभा में साबित करना एक बड़ी चुनौती होगी क्योंकि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने भाजपा को समर्थन नहीं दिया।

बाजार के जानकार बताते हैं कि भाजपा के नेतृत्व में महाराष्ट्र में सरकार बनने से बुलेट ट्रेन परियोजना से लेकर प्रदेश की दूसरी बुनियादी ढांचागत योजनाओं में तेजी आने की उम्मीदों से बाजार में सकरात्मक रुझान देखने को मिल सकता है।

बाजार विश्लेषकों के अनुसार, अमेरिका और चीन के बीच व्यापार वार्ता सकरात्मक दिशा में रहने के कारण विदेशी बाजारों से तेजी के संकेत मिलने और महाराष्ट्र में भाजपा की अगुवाई में बनी सरकार पर छाए अनिश्चितता के बादल दूर होने की सूरत में बाजार में तेजी का रुझान रह सकता है जिससे सेंसेक्स और निफ्टी नई ऊंचाइयों को छू सकते हैं। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की हलचल के साथ-साथ इस घटनाक्रम को लेकर दिल्ली में संसद की गतिविधियों पर भी बाजार की नजर होगी।

घरेलू शेयर बाजार में हालांकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम और डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल का भी असर देखने को मिलेगा। उधर, नवंबर सीरीज के एफएंडओ अनुबंध की एक्सपायरी गुरुवार को हो रही है जिसके बाद कारोबारी दिसंबर सीरीज के अनुबंध में अपना पोजीशन बनाएंगे।

इसके अलावा, सप्ताह के दौरान जारी होने वाले आर्थिक आंकड़ों का भी बाजार को इंतजार रहेगा। सप्ताह के आखिर में शुक्रवार को देश के इन्फ्रास्ट्रकचर के आंकड़े जारी होंगे। इसके अलावा, विदेशी बाजारों में जारी होने वाले आर्थिक आंकड़ों का भी असर देखने को मिलेगा।

बीते शुक्रवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स महज 2.72 अंकों की साप्ताहिक बढ़त के साथ 40,359.41 पर बंद हुआ था जबकि निफ्टी 18.95 अंकों की सप्ताहिक बढ़त के साथ 11,914.40 पर रहा।

Write a comment