1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. लोकसभा चुनाव 2019
  5. ‘प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हूं’, India Tv को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बोले NCP अध्यक्ष शरद पवार

‘प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हूं’, India Tv को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बोले NCP अध्यक्ष शरद पवार

NCP अध्यक्ष शरद पवार ने इंडिया टीवी को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि ‘मैं प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हूं।’

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 17, 2019 19:00 IST
Sharad Pawar- India TV
NCP president Sharad Pawar

मुंबई: NCP अध्यक्ष शरद पवार ने इंडिया टीवी को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि ‘मैं प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हूं। मैंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की बात 2014 में की थी। मैंने 2014 में भी चुनाव नहीं लड़ा था। क्योंकि, आज तक मैंने 14 बार चुनाव लड़ा और हर बात जीता हूं। मेरा विधानसभा और लोकसभा का कुल मिलाकर करियर 50 साल से ज्यादा है। मैं अब 79 का हो गया हूं, इसीलिए मैंने तय किया था कि चुनाव नहीं लड़ना है।’

पवार ने कहा कि ‘मेरे चुनाव नहीं लड़ने की ऐसी कोई खास बात नहीं थी। मगर मोदी साहब, मुख्यमंत्री साहब के पास मेरे ऊपर हमला करने के कोई मुद्दे नहीं हैं। तो ऐसे ही कहते हैं कि वो लड़े नहीं, वो छोड़कर गए।’ उन्होंने इसके आगे तंज कसते हुए कहा कि ‘अरे बाबा जो आदमी 14 बार चुनकर आया है, उसको छोड़कर जाने की जरूरत क्या है?’ बता दें कि पीएम मोदी ने अकलुज (महाराष्ट्र) में जनसभा को संबोधित करते हुए शरद पवार पर मैदान छोड़कर भागने का आरोप लगाया था।

अकलुज में पीएम मोदी के ये कहे जाने पर कि वो पिछड़ी जाति के हैं इसीलिए उन्हें टारगेट किया जा रहा है, पर शरद पवार ने कहा कि ‘हमने तो कभी बात नहीं की, वो खुद ही कहते हैं। किसी ने न उनकी जात निकाली, किसी ने न उनको गाली दी। ये जरूर कहा कि उनका कारोबार ठीक नहीं है। मगर इनके ऊपर पर्सनल अटैक किसी ने नहीं किया।’

उन्होंने कहा कि ‘मोदी जी की एक आदत है, वह सिम्पैथी गेन करने के लिए ऐसा कहते हैं। हम बचपन में देखते थे कि बच्चा मां के पास झगड़ा करने के बाद रोते हुए जाता था और कहता था कि मुझे इसने मारा, ऐसा-ऐसा हुआ। ये जो कहता था, वही काम आज मोदी कर रहे हैं।’

पवार ने कहा कि ‘प्राइम मिनिस्टर एक इंस्टीट्यूशन है, इंस्टीट्यूशन की इज्जत रखना हमारी और उनकी भी जिम्मेदारी है। मगर जिस तरह से राजनीतिक संघर्ष होता है। प्रधानमंत्री इंस्टीट्यूशन की गरीमा रखने की बात भूलकर जब बोलते हैं तो कहां तक बोलते हैं ये इसका नमूना है।’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Lok Sabha Chunav 2019 News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन
Write a comment