1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Zomato IPO खुलने से एक दिन पहले CCI के पास पहुंची शिकायत, NRAI ने उपलब्‍ध कराई अतिरिक्‍त जानकारी

Zomato IPO खुलने से एक दिन पहले CCI के पास पहुंची शिकायत, NRAI ने उपलब्‍ध कराई अतिरिक्‍त जानकारी

एनआरएआई ने कहा कि जोमैटो और स्विगी चेतावनी देते हैं कि अगर उन्होंने एक जैसी कीमत रखी तो संबंधित रेस्तरां के नाम अपने मंच से हटा देंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 13, 2021 11:35 IST
 NRAI files additional information with CCI against Zomato, Swiggy- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

 NRAI files additional information with CCI against Zomato, Swiggy

नई दिल्‍ली। फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो का आईपीओ 14 जुलाई को खुलने वाला है और इससे एक दिन पहले नेशनल रेस्‍तरां एसोसएिशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने खाना ऑर्डरिंग प्‍लेटफॉर्म जोमैटो और स्विगी के खिलाफ गैर-प्रतिस्पर्धी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप को लेकर अतिरिक्त सूचना भारतीय प्रतिस्पर्धा अयोग (CCI) के पास जमा की है। इससे पहले, पांच जुलाई को एसोसिएशन ने कहा था कि जोमैटो और स्विगी की गैर-प्रतिस्पर्धी गतिविधियों से रेस्तरां के हित प्रभावित हो रहे हैं। इसी को ध्यान में रखकर उसने एक जुलाई को सीसीआई के समक्ष आवेदन दिया था।

एनआरएआई ने अतिरिक्त सूचना में आरोप लगाया कि जोमैटो और स्विगी ने 2020-21 में ऑर्डर  मूल्य का 25 से 35 प्रतिशत कमीशन लिया। साथ ही कई ऐसे उदाहरण हैं, जब दोनों डिजिटल कंपनियों ने भुगतान में देरी की। इससे भागीदारों के नकदी प्रवाह पर असर पड़ा है। संगठन के अनुसार जोमैटो और स्विगी अपने मंचों पर रेस्तरां के नाम बेहतर तरीके से दिखाने को लेकर छूट देने का दबाव बनाते हैं। इन दोनों ने पूरी लागत का बोझ रेस्तरां पर डाल दिया है।

एनआरएआई ने कहा कि जोमैटो और स्विगी चेतावनी देते हैं कि अगर उन्होंने एक जैसी कीमत रखी तो संबंधित रेस्तरां के नाम अपने मंच से हटा देंगे। ऐसे कई उदाहरण हैं जिनमें कुछ भागीदारों को मंच से हटा दिया गया है क्योंकि उन्होंने अन्य चैनलों पर उपभोक्ताओं को कुछ बेहतर दरों की पेशकश की है। इस बारे में जोमैटो और स्विगी को ई-मेल भेजकर उनकी टिप्पणियां मांगी गईं, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

फ्लिपकार्ट 600 करोड़ रुपये के कर्मचारी शेयर विकल्पों की वापस खरीद करेगी

वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट 600 करोड़ रुपये के कर्मचारी शेयर विकल्प की पुनर्खरीद करेगी। सूत्रों ने यह जानकारी दी। इससे पहले दिन में फ्लिपकार्ट ने विभिन्न निवेशकों से 3.6 अरब डॉलर (करीब 26,805.6 करोड़ रुपये) जुटाने की घोषणा की। इसके हिसाब से ई-कॉमर्स कंपनी का मूल्यांकन 37.6 अरब डॉलर या 2.79 लाख करोड़ रुपये बैठता है।

कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में फ्लिपकार्ट समूह के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) कल्याण कृष्णमूर्ति ने इस उपलब्धि तक पहुंचने के लिए कर्मचारियों की भूमिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि हम हमेशा से अपने कर्मचारियों को नियमित रूप से अपने विकल्पों को भुनाने का अवसर उपलब्ध कराते हैं। उन्होंने कहा कि इस साल हम अपने कर्मचारियों से पांच प्रतिशत अतिरिक्त शेयर विकल्पों को वापस खरीदेंगे। हालांकि, ई-मेल में इसकी अतिरिक्त जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि कंपनी कर्मचारी शेयर विकल्प की पुनर्खरीद पर 600 करोड़ रुपये खर्च करेगी। 

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी की RIL ने इस कंपनी के खरीदे 10,000 शेयर

यह भी पढ़ें: SBI ग्राहकों के लिए खुशखबरी, इस विशेष खाते पर मिलेगा सामान्‍य बचत खाते से अधिक ब्‍याज

यह भी पढ़ें: राकेश झुनझुनवाला इस कंपनी में करने जा रहे हैं बड़ा निवेश, आम जनता को होगा फायदा

यह भी पढ़ें: मारुति ग्राहकों के लिए बुरी खबर, swift के साथ CNG वाहन हुए आज से इतने महंगे

Write a comment
bigg boss 15