1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जानें क्या है गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान, पीएम मोदी 13 अक्टूबर को करेंगे इसकी शुरुआत

जानें क्या है गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान, पीएम मोदी 13 अक्टूबर को करेंगे इसकी शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आर्थिक क्षेत्रों से बहुस्तरीय संपर्क के लिए 13 अक्टूबर को प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान की शुरुआत करेंगे। यह रेल और सड़क सहित 16 मंत्रालयों को जोड़ने वाला एक डिजिटल मंच है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: October 11, 2021 20:54 IST
पीएम मोदी गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान की 13 अक्टूबर को करेंगे शुरुआत, जानें इसके बारे में- India TV Hindi News
Photo:PTI

पीएम मोदी गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान की 13 अक्टूबर को करेंगे शुरुआत, जानें इसके बारे में

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आर्थिक क्षेत्रों से बहुस्तरीय संपर्क के लिए 13 अक्टूबर को प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान की शुरुआत करेंगे। यह रेल और सड़क सहित 16 मंत्रालयों को जोड़ने वाला एक डिजिटल मंच है। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने सोमवार को बताया कि इस योजना का मकसद बुनियादी ढांचा संपर्क परियोजनाओं की एकीकृत योजना बनाना और समन्वित कार्यान्वयन को बढ़ावा देना है। अधिकारी ने कहा कि 16 मंत्रालयों और विभागों ने उन सभी परियोजनाओं को जीआईएस मोड में डाल दिया है, जिन्हें 2024-25 तक पूरा किया जाना है। 

उन्होंने बताया, ‘‘गति शक्ति हमारे देश के लिए एक राष्ट्रीय अवसंरचना मास्टर प्लान होगा, जो समग्र बुनियादी ढांचे की नींव रखेगा। अभी हमारे परिवहन के साधनों के बीच कोई समन्वय नहीं है। गति इन सभी बाधाओं को दूर करेगी।’’ यह मंच उद्योगों की कार्य क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा, स्थानीय विनिर्माताओं को बढ़ावा मिलेगा, उद्योग की प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ाएगा और भविष्य के आर्थिक क्षेत्रों के निर्माण के लिए नई संभावनाओं को विकसित करने में भी मदद करेगा। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘यह असंबद्ध योजनाओं की समस्या को दूर करेगा, मानकीकरण की कमी, मंजूरी के मुद्दों और समय पर निर्माण और क्षमताओं का अधिकतम उपयोग जैसे मुद्दों को हल करेगा।’’ सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के तहत भास्कराचार्य राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग और भू-सूचना विज्ञान संस्थान ने इस मंच को विकसित किया है। उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) सभी परियोजनाओं की निगरानी और कार्यान्वयन के लिए नोडल मंत्रालय होगा। 

परियोजनाओं का जायजा लेने के लिए एक राष्ट्रीय योजना समूह नियमित रूप से बैठक करेगा। किसी भी नई जरूरत को पूरा करने के लिए मास्टर प्लान में किसी बदलाव को मंजूरी देने को लेकर कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में सचिवों का एक अधिकार प्राप्त समूह गठित किया जाएगा। सभी राज्यों से इस पहल में शामिल होने का आग्रह किया गया है, क्योंकि इससे देश भर में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के उचित कार्यान्वयन में मदद मिलेगी और आगे चलकर मंच का आंकड़ा निजी क्षेत्र को भी दिया जा सकता है।

अधिकारी ने कहा कि सड़क, रेलवे, दूरसंचार, तेल और गैस जैसे मंत्रालयों की परियोजनाएं इस मंच पर हैं, और इससे कपड़ा तथा खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालयों को भी अपने पार्कों की योजना बनाने में मदद मिल सकती है।

Latest Business News

Write a comment
>independence-day-2022